Jharkhand: लातेहार में मुठभेड़, जवानों ने एक नक्सली को मार गिराया; हथियार बरामद

झारखंड (Jharkhand) के लातेहार जिले में 12 जून को नक्सलियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ (Naxal Encounter) हुई है। इस मुठभेड़ में नक्सलियों ने एक नक्‍सली को मार गिराया है।

Naxal Encounter

File Photo

मुठभेड़ (Naxal Encounter) के बाद सर्चिंग में एक नक्सली का शव और चार हथियार बरामद हुए हैं। सर्च अभियान अभी भी जारी है।

झारखंड (Jharkhand) के लातेहार जिले में 12 जून को नक्सलियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ (Naxal Encounter) हुई है। इस मुठभेड़ में नक्सलियों ने एक नक्‍सली को मार गिराया है। यह मुठभेड़ जिले के गारू थाना क्षेत्र स्थित कुकू पिरी जंगल में हुई है। बताया जा रहा है कि प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के रीजनल कमेटी सदस्य 15 लाख के इनामी छोटू खेरवार के हथियारबंद दस्ते के साथ 12 जून की सुबह करीब 9:00 बजे मुठभेड़ हुई है।

इस मुठभेड़ में सुरक्षाबल के जवानों की गोली से एक नक्सली ढेर हो गया है। गोलीबारी थमने के बाद इलाके में सर्च अभियान के दौरान सुरक्षाबल के जवानों ने चार हथियार समेत कई सामान भी बरामद किए। गोलीबारी के बाद से गारू समेत आसपास के ग्रामीण इलाके में भय का माहौल व्याप्त है।

Chhattisgarh: ‘लोन वर्राटू’ अभियान का असर, दंतेवाड़ा में 5 नक्सलियों ने किया सरेंडर

मुठभेड़ (Naxal Encounter) के बाद सर्चिंग में एक नक्सली का शव और चार हथियार बरामद हुए हैं। सर्च अभियान अभी भी जारी है। लातेहार के इस इलाके में झारखंड जगुआर, 203वीं कोबरा बटालियन और सीआरपीएफ (CRPF) की एक कंपनी माओवादियों के खिलाफ अभियान चला रही है।

पलामू के डीआइजी राजकुमार लकड़ा के अनुसार, “माओवादियों के साथ सुरक्षाबल के जवानों की गोलीबारी हुई है। एक नक्सली के मारे जाने की सूचना मिली है। घटनास्थल के लिए मुख्यालय से अतिरिक्त फोर्स भेजी गई है।”

ये भी देखें-

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, नक्सलियों के विरुद्ध इलाके में छापेमारी के लिए 203वीं कोबरा बटालियन, 214वीं बटालियन सीआरपीएफ और झारखंड जगुआर के द्वारा अभियान चलाया जा रहा था। इसी बीच कुकू-पिरी जंगल में सुरक्षाबल के जवान आगे बढ़ रहे थे। तभी छोटू खरवार के दस्ता सदस्यों ने छि‍पकर गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद सुरक्षाबल के जवानों ने भी मोर्चा संभालकर जवाबी कार्रवाई में गोलीबारी शुरू की। एक घंटे तक रुक-रुक कर गोलीबारी होती रही। बाद में जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली जंगल का लाभ उठाकर भाग निकले।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें