झारखंड: खूंटी में ग्राम-प्रधान हत्याकांड में शामिल दो नक्सली पुलिस के हत्थे चढ़े

झारखंड के नक्सल प्रभावित जिला खूंटी के अड़की थाना के कोचांग के ग्राम प्रधान सुखराम सोय उर्फ सुखराम मुंडा की हत्या में शामिल भाकपा माओवादी के दो नक्सलियों (Naxalites)को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

Naxalites

खूंटी के अड़की थाना के कोचांग के ग्राम प्रधान सुखराम सोय उर्फ सुखराम मुंडा की हत्या में शामिल भाकपा माओवादी के दो नक्सलियों (Naxalites)को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

झारखंड के नक्सल प्रभावित जिला खूंटी के अड़की थाना के कोचांग के ग्राम प्रधान सुखराम सोय उर्फ सुखराम मुंडा की हत्या में शामिल भाकपा माओवादी के दो नक्सलियों (Naxalites)को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

Naxalites
सांकेतिक तस्वीर।

गिरफ्तार नक्सलियों (Naxalites) में आड़ाहातू गांव का सांदू मुंडू और ससांगबेड़ा का रहने वाला देवसाय पूर्ति शामिल हैं। इनके पास से दो देसी कट्टे, दो जिंदा गोली, भाकपा माओवादी के छह पर्चे, चार नक्सली साहित्य, दो बैनर और दो बैग बरामद किए गए। एसपी आषुतोष शेखर ने 29 नवंबर को आयोजित प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी।

एसपी के मुताबिक, उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि कोचांग के ग्राम प्रधान सुखराम मुंडा की हत्या में शामिल नक्सली (Naxalites) सांदू मुंडू और देवसाय पूर्ति बोहंडा हॉकी मैदान के पास घूम रहे हैं। सूचना के आलोक में एएसपी अभियान अनुराग राज के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया। पुलिस टीम ने 28 नवंबर को बोहंडा चौक के पास छापेमारी कर दोनों नक्सलियों (Naxalites) को गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने बताया कि हत्या के अन्य आरोपी नक्सली दाऊद हेमरोम को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

एसपी के अनुसार, दोनों नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ पहले से ही हत्या, आर्म्स एक्ट और नक्सली गतिविधियों को लेकर अड़की थाने में चार मामले दर्ज हैं। झारखंड में पुलिस नक्सलियों पर लगातार लगाम कस रही है। छापेमारी कर नक्सलियों (Naxalites) की धर-पकड़ जारी है। राज्य से नक्सलवाद के समूल नाश के लिए पुलिस फोर्स का अभियान जोरों पर है।

पढ़ें: पुलिस फोर्स ने बदली रणनीति, नक्सली लीडर भी अब बच नहीं पाएंगे

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें