झारखंड: हार्डकोर इनामी नक्सली सुभाष मुंडा चढ़ा पुलिस के हत्थे, तीन राज्यों में था लाल आतंक का चेहरा

झारखंड (Jharkhand), बंगाल (Bengal) और ओडिशा (Odisha) में कई वारदातों को अंजाम देने वाले हार्डकोर इनामी नक्सली (Naxali) सुभाष मुंडा को पुलिस (Police) ने गिरफ्तार कर लिया है।

Naxali, Subhash Munda

हार्डकोर इनामी नक्सली सुभाष मुंडा गिरफ्तार।

झारखंड (Jharkhand), बंगाल (Bengal) और ओडिशा (Odisha) में कई वारदातों को अंजाम देने वाले हार्डकोर इनामी नक्सली (Naxali) सुभाष मुंडा को झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) ने गिरफ्तार कर लिया है। बंदूक के बल पर 13 सालों से लाल आतंक का खौफ फैलाने वाला सुभाष मुंडा आकाश उर्फ असीम मंडल के नक्सली दस्ते में सक्रिय था। वह 2007 से नक्सली संगठन से जुड़ा हुआ था। उसकी गिरफ्तारी झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले के घाटशिला से हुई है।

नक्सली सुभाष मुंडा (Naxali Subhash Munda) को पुलिस ने जाल बिछाकर धर दबोचा है । जानकारी के मुताबिक, नक्सली (Naxali) सुभाष अपने घर गालूडीह क्षेत्र के फुलझोर गांव के झुमरू टोला में छुप कर रह रहा था। इसकी गुप्त सूचना पुलिस को मिल गई। इस सूचना के आधार पर 7 जुलाई को पुलिस ने छापेमारी कर उसे पकड़ लिया।

छत्तीसगढ़: नक्सलियों ने पुलिसकर्मी के पिता को किया रिहा, जनअदालत में दी चेतावनी

अधिकारियों के मुताबिक, इस हार्डकोर नक्सली पर कुल 9 आपराधिक मामले चल रहे हैं। यह दलमा जंगलों से लेकर गालूडीह, घाटशिला, पटमदा और आस-पास के अन्य क्षेत्रों में सक्रिय था। इस हार्डकोर नक्सली (Naxali) पर प्रशासन की ओर से 1 लाख का इनाम घोषित है। गिरफ्तारी के बाद एएसपी (अभियान) गुलशन तिर्की और घाटशिला के एसडीपीओ राजकुमार मेहता ने संयुक्त प्रेसवार्ता कर मामले की जानकारी दी।

एएसपी तिर्की के मुताबिक, नक्सली सुभाष मुंडा के खिलाफ घाटशिला और पटमदा थाने में नौ मामले दर्ज हैं। इनमें हत्या से लेकर कई अन्य संगीन मामले शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सुभाष दामपाड़ा दस्ते का सक्रिय सदस्य था और वह लंबे समय से संगठन से जुड़ा हुआ था। दामपाड़ा दस्ते में सुभाष समेत कुल 17 सदस्य हैं, जिनका नेतृत्व नक्सली (Naxali) असीम मंडल उर्फ आकाश करता है।

उन्होंने बताया कि बरसात का मौसम होने के कारण सुभाष बीच-बीच में अपने घर आकर खेती कर रहा था। इस बात की लगातार सूचना मिल रही थी। 7 जुलाई को सटीक सूचना के आधार पर उसे घर से पकड़ा गया। आरोपी पर झारखंड सरकार ने एक लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा था। सुभाष अपने दस्ते के साथ घाटशिला, गालूडीह, एमजीएम, पटमदा और बोड़ाम क्षेत्र में सक्रिय था। एएसपी ने बताया कि नक्सल मूवमेंट के खिलाफ पुलिस लगातार अभियान चला रही है।

यह भी पढ़ें