नक्सलियों ने की थी बड़ी प्लानिंग, गुमला के जंगलों में छिपा रखा था लैंडमाइंस बनाने का सामान

झारखंड के लोहरदगा में नक्सलियों (Naxals) का एक बड़ा प्लान फेल हो गया है। नक्सलियों के खिलाफ अभियान चला रहे सीआरपीएफ (CRPF) 158 बटालियन, सैट-टू, जैप-1 के जवानों को बड़ी सफलता मिली। सुरक्षाबलों ने लोहरदगा-गुमला जिले के सीमावर्ती गुमला जिले के विशुनपुर थाना क्षेत्र के टेमरकरचा जंगल से विस्फोटक तैयार करने का सामान बरामद किया।

Naxals
जवानों ने नक्सलियों द्वारा जंगल में छिपा कर रखा हुआ बम और लैंड माइंस बनाने का सामान बरामद किया।

खुफिया सूचना मिलने पर CRPF ने की कार्रवाई: जानकारी के मुताबिक, नक्सलियों (Naxals) की गतिविधि की खुफिया सूचना मिलने पर सीआरपीएफ (CRPF) 158 बटालियन, सैट-टू, जैप-1 के जवान ज्वॉइंट ऑपरेशन पर निकले थे। सुरक्षा बलों की टीम लोहरदगा-गुमला जिले के सीमावर्ती गुमला जिले के विशुनपुर थाना क्षेत्र के टेमरकरचा जंगलों में तलाशी ले रही थी।

छिपा कर रखा था लैंड माइंस बनाने का सामान:  इस दौरान नक्सलियों (Naxals) द्वारा जंगल में छिपा कर रखा हुआ बम और लैंड माइंस बनाने का सामान सुरक्षाबलों के हाथ लग गया। जवानों ने एक स्टील कंटेनर, 63 फीट कोडेक्स वायर, 8 पीस नक्सली साहित्य, तीन फीट के दो पीस सेफ्टी फ्यूज, 8 पीस इलेक्ट्रानिक डेटोनेटर, जीलेटीन स्टीक दो पीस, आमोनियम नाइट्रेट 700 ग्राम और एक काले रंग की पॉलीथिन बरामद किया।

नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी: यह सामान प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी का बताया जा रहा है। नक्सली इन सामानों से बम और लैंड माइंस तैयार कर बड़ी हिंसक घटना को अंजाम दे सकते थे। सुरक्षाबलों के इस एक्शन से नक्सलियों (Naxals) को बड़ा नुकसान हुआ है। बता दें कि जवान लगातार नक्सलियों के खिलाफ अभियान चला रहे हैं। नक्सलवाद की कमर तोड़ने के लिए पुलिस और प्रशासन हर संभव कदम उठा रहा है। आए दिन नक्सली गिरफ्तार हो रहे हैं, एनकाउंटर में मारे जा रहे हैं या सरेंडर कर रहे हैं।

पढ़ें: नक्सलियों ने गर्भ में ही बच्चे की हत्या कर दी थी, पढें इस पूर्व इनामी महिला नक्सली की दर्दनाक कहानी…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here