झारखंड: गिरिडीह पुलिस ने हार्डकोर महिला नक्सली को किया गिरफ्तार

झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह पुलिस को 24 जनवरी की शाम एक हार्डकोर महिला नक्सली (Woman Naxali) को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। गिरिडीह पुलिस ने इस हार्डकोर महिला नक्सली (Woman Naxali) को पारसनाथ से गिरफ्तार किया।

Woman Naxali

झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह पुलिस को 24 जनवरी की शाम एक हार्डकोर महिला नक्सली (Woman Naxali) को गिरफ्तार करने में सफलता मिली।

झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह पुलिस को 24 जनवरी की शाम एक हार्डकोर महिला नक्सली (Woman Naxali) को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। गिरिडीह पुलिस ने इस हार्डकोर महिला नक्सली (Woman Naxali) को पारसनाथ से गिरफ्तार किया। हालांकि अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

Woman Naxali
गिरिडीह पुलिस को एक हार्डकोर महिला नक्सली को गिरफ्तार करने में सफलता मिली।

झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह पुलिस को 24 जनवरी की शाम एक हार्डकोर महिला नक्सली (Woman Naxali) को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। गिरिडीह पुलिस ने इस हार्डकोर महिला नक्सली (Woman Naxali) को पारसनाथ से गिरफ्तार किया। हालांकि अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। माना जा रहा है कि यह महिला इनामी नक्सली (Woman Naxali) करुणा दीदी है।

करुणा की जो तस्वीर पुलिस रिकॉर्ड में है, उससे इस महिला का मिलान किया जा रहा है। हालांकि इस संबंध में पुलिस अभी कुछ भी बताने से इन्कार कर रही है। करुणा दीदी पारसनाथ के साथ-साथ बिहार की सीमा से सटे सीमांचल जोन में भी सक्रिय है। उसे बबली और सरला के नाम से भी संगठन में जाना जाता है।

वह हार्डकोर नक्सली अजय महतो के दस्ते में भी रह चुकी है। इस पर चिलखारी नरसंहार के साथ भेलवाघाटी नरसंहार समेत सैकड़ों घटनाओं को अंजाम देने का आरोप है। राज्य सरकार ने इनाम भी घोषित कर रखा था। इनाम घोषित होने के बाद से ही नक्सली संगठन में करुणा का रसूख और कद बढ़ता गया था।

पढ़ें: दुमका में 5 लाख के दो इनामी सहित तीन नक्सलियों ने किया सरेंडर

यह भी पढ़ें