Jharkhand: गिरिडीह से वांटेड इनामी नक्सली गिरफ्तार, कई संगीन वारदातों में रहा है शामिल

झारखंड (Jharkhand) की गिरिडीह पुलिस को मिली बड़ी सफलता मिली है। पुलिस (Police) ने एक लाख के इनामी नक्सली (Naxali) को गिरफ्तार कर लिया है। धनबाद और गिरिडीह जिले के कई नक्सली वारदातों में शामिल रहा है।

Naxali

गिरिडीह से गिरफ्तार नक्सली।

झारखंड (Jharkhand) की गिरिडीह पुलिस को मिली बड़ी सफलता मिली है। पुलिस (Police) ने एक लाख के इनामी नक्सली (Naxali) को गिरफ्तार कर लिया है। धनबाद और गिरिडीह जिले के कई नक्सली वारदातों में शामिल रहा है। गिरफ्तार नक्सली गिरिडीह जिले के पीरटांड़ थाना क्षेत्र के झरहा गांव का रहने वाला है। गिरिडीह एसपी ने प्रेस वार्ता कर यह जानकारी दी है।

जानकारी के मुताबिक, गिरिडीह पुलिस को एक लाख के इनामी नक्सली (Naxalite) किशोर चंद किस्को उर्फ तूफान उर्फ रामकिशोर उर्फ राजकुमार किस्कू उर्फ अनिल किस्कू को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। गिरिडीह एसपी को गुप्त सूचना मिली थी कि यह वांटेड नक्सली (Naxali) पीरटांड़ थाना क्षेत्र के मांझीडीह गांव में मौजूद है। वह इस क्षेत्र मे किसी नक्सली वारदात को अंजाम देने की फिराक में है।

नक्सलियों की ‘गंदी’ साजिश, महिलाओं के जरिए थानों में जवानों के खिलाफ झूठे केस दर्ज करवाने की प्लानिंग

इसके बाद पुलिस टीम गठित कर इस नक्सली पर लगातार नजर रखी गई। फिर मौका देखकर जवानों ने इसे दबोच लिया। बता दें कि यह इलाके का कुख्यात नक्सली है। इसके ऊपर राज्य की पुलिस ने एक लाख का इनाम घोषित कर रखा था। इसकी गिरफ्तारी होने से इनके दस्ते के अन्य साथियों के बारे में भी पुलिस को महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है।

यह दुर्दांत नक्सली (Naxali) पहले पतिराम मांझी के दस्ते में काम करता था। बाद में वह दयाल महतो के दस्ते ने आ गया। गिरिडीह एसपी अमित रेनू ने प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि यह वांछित नक्सली गिरिडीह के कई थाना क्षेत्रों में नक्सल वारदात को लेकर काफी एक्टिव था तथा इसके खिलाफ धनबाद और गिरिडीह जिले में कई मामले दर्ज हैं।

नक्सली नेताओं के रवैये से थे परेशान, मलकानगिरि में 6 लाख के इनामी नक्सलियों ने किया सरेंडर

बता दें कि प्रदेश में नक्सलियों के खिलाफ पुलिस और सुरक्षाबलों का अभियान तेज है। इससे पहले, सरायकेला-खरसावां जिला पुलिस (Police) ने एक दंपति हत्याकांड मामले में हार्डकोर नक्सली महाराज प्रमाणिक दस्ते के दो सक्रिय नक्सलियों (Naxalites) को गिरफ्तार किया था। खरसावां पुलिस ने खुफिया सूचना के आधार पर इन नक्सलियों को गिरफ्तार किया।

बता दें कि ये नक्सली रायजामा गांव में हुई पति-पत्नी की हत्या में शामिल थे। नक्सलियों ने इस दंपत्ति पर पुलिस के लिए मुखबिरी करने का आरोप लगाया था। इसके अलावा तमाड़ इलाके में दहशत फैलाने और पोस्टरबाजी के आरोप भी इन नक्सलियों पर हैं। गिरफ्तार नक्सलियों (Naxals) के नाम सोमा सरदार और उमेश मुंडा है। पुलिस गिरफ्त में आए दोनों नक्सलियों (Naxalites) ने जिले में एक बार फिर से किसी नक्सली वारदात को अंजाम देने की योजना बनाई गई थी। जिसे पुलिस ने वक्त रहते विफल कर दिया।

यह भी पढ़ें