Corona Virus: झारखंड के गिरिडीह में 4 प्रवासी मजदूर मिले कोरोना पॉजिटिव, प्रशासन अलर्ट

झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह में चार दिनों में 4 प्रवासी मजदूरों के कोरोना (Corona Virus) पॉजिटिव मिलने के साथ ही जिले में नौ कंटेनमेंट जोन बन गए हैं।

Corona Virus

झारखंड के गिरिडीह में 4 प्रवासी मजदूर मिले कोरोना पॉजिटिव।

झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह में चार दिनों में 4 प्रवासी मजदूरों के कोरोना (Corona Virus) पॉजिटिव मिलने के साथ ही जिले में नौ कंटेनमेंट जोन बन गए हैं। हालांकि, जिला रेड जोन की श्रेणी में शामिल हुआ या नहीं, इसकी पुष्टि अधिकारिक तौर पर नहीं की गई है। जिले के अलग-अलग गांवों से चार संक्रमितों के मिलने के बाद डीसी राहुल सिन्हा के निर्देश पर चारों कोरोना (Corona Virus) संक्रमितों को देर रात ही सदर प्रखंड के बदडीहा स्थित एएनएम हॉस्टल स्थित आईसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया।

डुमरी के नवासार और भंडारो गांव के संक्रमित गुजरात के सूरत से लौटे थे। दोनों संक्रमित युवकों की उम्र 22 से 28 के बीच है। सूरत से लौटने के बाद दोनों युवकों को होम क्वॉरेंटीन में रखा गया था। लेकिन दोनों युवकों के कई बार घर से बाहर निकलने की बात सामने आई है। संक्रमित मिलने के बाद अधिकारियों के नेत्तृव में सदर अस्पताल से डुमरी प्रखंड के नवासार और भंडारो पहुंची सेन्ट्रल क्यूआरटी की टीम ने दोनों संक्रमित युवकों के संपर्क में आएं उनके परिवार के 12 लोगों को होम क्वॉरेंटीन में रहने का निर्देश दिया। इन 12 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिए गए हैं।

पोखरण परमाणु परीक्षण: सेना की वर्दी पहन कर करते थे काम, वैज्ञानिकों ने 4 अमेरिकी सैटेलाइट को भी दिया चकमा

हालांकि, क्यूआरटी सेन्ट्रल टीम के सदस्य अब दोनों कोरोना (Corona Virus) संक्रमित युवक के परिवार के सदस्यों से यह भी जानकारी जुटा रहे हैं कि वे दोनों अब तक किन-किन के संपर्क में आए थे। नवासार और भंडारो डुमरी के उत्तरी इलाके में पड़ता है, जो पूरी तरह नक्सल प्रभावित माना जाता है। नवासार और भंडारो एक ही पंचायत में हैं और इसके आसपास आठ अन्य गांव भी हैं। एसपी के निर्देश पर दोनों गांवों से सटे करीब तीन किलोमीटर के इलाके में कर्फ्यू लगाने के साथ सील कर दिया गया है।

सूरत से ही लौटा डुमरी का तीसरा कोरोना (Corona Virus) संक्रमित व्यक्ति सरसाखों गांव का रहने वाला है। वह पूरे परिवार के साथ गांव के कस्तूरबा बालिका विद्यालय में पहले से ही क्वॉरेंटीन सेंटर में था। लिहाजा, सेन्ट्रल क्यूआरटी टीम ने उसके परिवार के भी सभी सदस्यों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया है। अधिकारियों के निर्देश पर तीनों गांव के हर घर के साथ सार्वजनिक स्थलों को भी सैनेटाईज किया गया।

 

इधर, नौवीं कोरोना (Corona Virus) मरीज जमुआ के उसी चनमानो गांव की रहने वाली है, जहां 12 मई की रात पांचवें मरीज के मिलने की पुष्टि हुई थी। इसके बाद, 13 मई को इस महिला के संक्रमित होने की बात सामने आई। लिहाजा, अधिकारियों और सेन्ट्रल क्यूआरटी टीम के सदस्यों को कोई खास परेशानी नहीं हुई, क्योंकि चनमानो गांव के तीन किमी के इलाके को 13 मई को ही सील कर दिया गया था। चनमानो के साथ करीब 15 अन्य गांवों को भी सील किया गया था। हालांकि, महिला के संपर्क में आएं 25 लोगों के सैंपल भी लेकर जांच के लिए भेज दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें