झारखंड में नक्सलियों के खिलाफ सुरक्षाबल एक्शन में, जोनल कमांडर के बाद TSPC का सब जोनल कमांडर भी धराया

झारखंड के चतरा जिले में टीएसपीसी नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ सुरक्षाबलों को एक और सफलता मिली है। सीआरपीएफ (CRPF) और पुलिस (Police) की संयुक्त कार्रवाई में टीएसपीसी (TSPC) के सब जोनल कमांडर ननकू गंझू को गिरफ्तार कर लिया गया।

TSPC

टीएसपीसी का सब जोनल कमांडर गिरफ्तार।

लॉकडाउन के दौरान भी नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ सुरक्षाबलों का अभियान तेज है। झारखंड के चतरा जिले में टीएसपीसी नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ सुरक्षाबलों को एक और सफलता मिली है। सीआरपीएफ (CRPF) और पुलिस (Police) की संयुक्त कार्रवाई में टीएसपीसी (TSPC) के सब जोनल कमांडर ननकू गंझू उर्फ संजीत को गिरफ्तार कर लिया गया।

उसे लावालौंग थानाक्षेत्र के होसिल गांव से गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार नक्सली के पास से एक एके-47, 7.62 एमएम के 130 जिंदा कारतूस, दो मैगजीन व गोली रखने के पाउच बरामद किए गए हैं। जानकारी के मुताबिक, नक्सली ननकू गंझू परमजीत दस्ते का सदस्य है और तीन दिन पहले सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में शामिल था।

आजमगढ़ के अबू सलेम को दाऊद ने मायानगरी से रंगदारी वसूलने का काम दिया था, फिल्म अभिनेत्री से रहे अफेयर के चर्चे

इस संबंध में जानकारी देते हुवे एसपी ऋषभ झा ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि टीएसपीसीजोनल कमांडर परमजीत का दस्ता के कुछ सदस्य लावालौंग के टिकुलिया होसिर गांव के आस पास ठहरे हुए हैं। इस सूचना का सत्यापन करने के बाद सिमरिया एसडीपीओ ने नेतृत्व में सैट-5, सैट-49 और सीआरपीएफ (CRPF) लावालौंग ने संयुक्त रूप से छापेमारी अभियान चलाकर दस्ता कमांडर ननकू गंझू को गिरफ्तार कर लिया।

ननकू सिमरिया थाना के कासियातु और पांकी थाना क्षेत्र में आगजनी व फायरिंग की घटना का आरोपी है। एसपी ने नक्सलियों से अपील किया कि वे मुख्यधारा में लौट आएं, उन्हें सरकार की ओर से दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ दिया जाएगा, वरना सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, चतरा में 10 लाख का इनामी TSPC जोनल कमांडर गिरफ्तार

बता दें कि इससे पहले 18 मई को पुलिस ने दस लाख रुपये का इनामी टीएसपीसी (TSPC) जोनल कमांडर विकास उर्फ अविनाश उर्फ दशरथ गंझू को कुंदा थानाक्षेत्र से गिरफ्तार किया था। एसपी ऋषभ झा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर जिला बल, सैट और झारखंड जगुआर की संयुक्त टीम ने कार्रवाई कर जोनल कमांडर को गिरफ्तार किया था।

दरअसल पुलिस को सूचना मिल रही थी कि तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी (TSPC) के जोनल कमांडर विकास, संगठन के एरिया कमांडर निर्भय और बलवंत के साथ चतरा, हजारीबाग एवं लातेहार जिले के सीमावर्ती क्षेत्र केंदु, कसारी, कसियातु, करमताड़, कान्हूखाप, टूटकी, चोपे, तिबाब व भयपुर समेत एक दर्जन गांवों में गतिविधि कर रहे हैं।

इसी सूचना के आधार पर विकास को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ चतरा, हजारीबाग और लातेहार जिले के विभिन्न थानों में 11 नक्सल और अपराधिक मामले दर्ज हैं। बता दें कि देश में कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन चल रहा है। लेकिन नक्सली (Naxals) हैं कि अपनी कायराना हरकतों से बाज नहीं आ रहे। वे सुरक्षाबलों की मुश्किलें बढ़ाने का कोई भी मौका नहीं छोड़ते। इस मुसिबत के वक्त में पुलिस और सुरक्षाबलों को दो मोर्चों पर मुस्तैद रहना पड़ रहा है। हालांकि, जवान भी नक्सलियों (Naxalites) की नकेल कसने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे।

यह भी पढ़ें