जम्मू-कश्मीर: शोपियां में आतंकी मुठभेड़, सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को किया ढेर

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के शोपियां जिले में 16 जून को आतंकी मुठभेड़ हुई। जिले में तुरकावनगाम इलाके में हुई इस मुठभेड़ (Terrorist Encounter) में 3 आतंकी ढेर हो गए।

Terrorist Encounter

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के शोपियां जिले में 16 जून को आतंकी मुठभेड़ हुई। जिले में तुरकावनगाम इलाके में हुई इस मुठभेड़ (Terrorist Encounter) में 3 आतंकी ढेर हो गए। जानाकरी के मुताबिक, सुरक्षाबलों को सूचना मिली थी कि इस इलाके में आतंकी छिपे हुए हैं। सूचना मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया, जिसमें तीन आतंकियों (Terrorists) को ढेर कर दिया गया।

मारे गए आतंकियों की पहचान शोपियां जिला के जैनपोरा के तुरकावनगाम के रहने वाले जिला कमांडर जुबैर अहमद वानी उर्फ रहमान निवासी, सुगान के मुनीबुल हक और शोपियां के यावूरा के रहने वाले कामरान जहूर मन्हास उर्फ अबु बकर के तौर पर हुई है। मुठभेड़ स्थल से भारी तादाद में हथियार और गोलाबारूद भी बरामद हुए हैं। आतंकियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाते हुए कई राउंड फायरिंग भी की।

गिरिडीह में गांव वालों का ऐलान- गांव में नक्सली दिखे तो उनकी खैर नहीं; पढ़िए पूरा मामला

मिली जानकारी के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर पुलिस की स्पेशल ऑपरेशन टीम (SOG), सेना (Indian Army) और सीआरपीएफ (CRPF) के जवानों ने इलाके में संयुक्त रूप से यह सर्च ऑपरेशन चलाया था। यह मुठभेड़ (Terrorist Encounter) 16 जून सुबह 5 बजे उस वक्त शुरू हुई जब छिपे हुए आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी।

सुबह करीब 6.30 बजे फायरिंग रुकने पर सर्च ऑपरेशन चलाया गया। जिसके बाद तीन आतंकियों के शव मिले। आतंकियों के पास से दो एके-47 और इंसास राइफल भी बरामद हुई है। सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर रखा है। बता दें कि घाटी में आतंकियों के खिलाफ लगातार सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

इससे पहले, जम्मू-कश्मीर के पुलवामा और कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ (Terrorist Encounter) हुई थी। इस दौरान सुरक्षाबलों ने दो आंतवादियों को मार गिराया था। कुलगाम जिले के निपोरा में इलाके की घेराबंदी और तलाशी अभियान के दौरान सुरक्षाबलों व आतंकवादियों के बीच अचानक फायरिंग शुरू हो गई थी। आतंकियों की फायरिंग के बाद जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने दोनों आतंकियों को ढेर कर दिया था।

यह भी पढ़ें