पुलवामा में बड़े आतंकी हमले की साजिश नाकाम, IED से भरी थी कार; सुरक्षाबलों ने किया डिफ्यूज

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पुलवामा (Pulwama) जिले में सुरक्षाबलों ने आतंकियों की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है। आतंकी एक बार फिर 2019 के पुलवामा हमले (Pulwama Attack) जैसी घटना को अंजाम देना चाहते थे।

पुलवामा (Pulwama) जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) attack

पुलवामा में बड़े हमले की साजिश नाकाम।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पुलवामा (Pulwama) जिले में सुरक्षाबलों ने आतंकियों की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है। आतंकी एक बार फिर 2019 के पुलवामा हमले (Pulwama Attack) जैसी घटना को अंजाम देना चाहते थे। लेकिन इस बार समय रहते सुरक्षाबलों को इसकी जानकारी मिल गई और उन्होंने इसे नाकाम कर दिया। सुरक्षाकर्मियों ने बाद में एहतियात के साथ कार को विस्फोट से उड़ा दिया। इसका वीडियो भी सामने आया है।

जानकारी के मुताबिक, पुलवामा के पास एक सैंट्रो गाड़ी में IED (इंप्रोवाइज्ड एक्स्प्लोसिव डिवाइस) प्लांट की गई थी, जिसकी समय रहते हुए पहचान कर ली गई। बम डिस्पोजल स्क्वायड ने वक्त रहते ही इस बम को डिफ्यूज कर दिया। पुलवामा पुलिस, सीआरपीएफ और आर्मी ने एक साथ एक्शन लेते हुए इस गाड़ी की पहचान की और इसमें IED के होने का पता लगाया।

कश्मीर में बैठे मौत के सौदागरों के डेथ वारंट पर भारतीय सेना ने किये हस्ताक्षर

तत्काल बम डिस्पोजल स्क्वायड को बुलाया गया और इस खतरनाक IED ब्लास्ट को टाल दिया गया। एक सफेद रंग की निजी कार को सुरक्षाबलों ने एक जांच चौकी पर रोका लेकिन चालक तेजी से निकल गया। इसके बाद सुरक्षा बलों ने कार पर फायरिंग की, पर कार को लेकर चालक भाग गया। इसके बाद कार कुछ दूरी पर खाली पड़ी हुई मिली।

इस गाड़ी को पुलवामा के रजपुरा रोड के पास शादीपुरा में पकड़ा गया। सफेद रंग की सैंट्रो कार में टू व्हीलर की नंबर प्लेट लगाई गई थी, जो कि कठुआ की रजिस्टर्ड थी। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने इसे ट्रैक किया, जिसके बाद बम की तलाश की गई। सूत्रों के अनुसार, जांच के दौरान कार में आईईडी (IED) लगा हुआ मिला। मौके पर बम डिस्पोजल स्क्वायड को बुलाया गया।

Breaking News: झारखंड के चाईबासा में मुठभेड़, सुरक्षाबलों ने तीन नक्सलियों को मार गिराया

विस्फोटक से भरे कार को यहां से कहीं ले जाना खतरनाक था। बम को कार से बाहर भी नहीं निकाला जा सकता था। आसपास के सभी घरों को खाली करा लिया गया। विस्फोटक सहित कार को उड़ा दिया गया। ड्रोन से बनाया गया इसका एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें दिख रहा है कि कार को विस्फोट के जरिए उड़ा दिया जाता है। जोरदार धमाके के साथ धुएं का गुबार उठता है।

देखें वीडियो में-

कश्मीर क्षेत्र की पुलिस ने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा, ”समय पर मिली जानकारी और पुलवामा पुलिस (Police), सीआरपीएफ (CRPF) और सेना (Army) की कोशिश की वजह से एक कार से आईईडी विस्फोट की साजिश को नाकाम कर दिया गया।” जानकारी के मुताबिक, पुलिस को रात में सूचना मिली थी कि हिज्बुल मुजाहिद्दीन का आतंकवादी विस्फोट से भरी कार से निकला है।

पीएम मोदी ने ऐसे दी चीन-नेपाल को पटखनी, वापस लौटी दुश्मन की सेना

इनपुट में यह जानकारी नहीं मिली थी कि वह किस रूट पर गया है। इसलिए, जम्मू-कश्मीर पुलिस, सीआरपीएफ और सेना ने सभी संभावित रूटों की जांच की और चेकपॉइंट्स बनाए। संदिग्ध सेंट्रो कार आइखंड में देखा गया। पुलिस को देखकर आतंकवादी ने पहले तो फायरिंग की और फिर कार को छोड़कर जंगल में भाग गया। माना जा रहा है कि कार बम को जैश-ए-मोहम्मद के बम एक्सपर्ट आतंकी वलीद भाई ने तैयार किया है।

वहीं, इस मामले को लेकर आईजीपी विजय कुमार ने कहा कि पिछले कई दिनों से इनपुट मिल रहे थे कि आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद ने कार में आईईडी लगाकर आतंकी वारदात को अंजाम देने की साजिश रची है। इसी को लेकर कल यानी कि 27 मई की शाम को पुलवामा पुलिस, सीआरपीएफ और सेना के जवानों ने नाका लगाया था।

इस दौरान कार सवार आतंकी नाके के पास पहुंचा। जिसे सुरक्षाबलों ने रुकने का इशारा किया। इस दौरान कार में सवार आतंकी ने भगाने की कोशिश की और फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद सुरक्षाबलों का शक पुख्ता हो गया। सुरक्षाबलों ने मोर्चा संभाला लेकिन अंधेरे का फायदा उठाकर आतंकी फरार हो गया। उन्होंने बताया कि कार में करीब 40 किलो आईईडी लगाया गया था।

बताया जा रहा है कि आतंकी संगठन जैश ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाने की साजिश रची थी। बता दें कि कार पर फर्जी नंबर प्लेट भी लगा रखी थी। जो कि दोपहिया वाहन की थी। यह नंबर कठुआ जिले में ग्लैमर के नाम पर रजिस्टर्ड है। इसका मालिक साहिल कुमार है। कार में लगाई आईईडी को जंगल में ले जाकर बम निरोधक दस्ते की मदद से निष्क्रिय किया गया। अब इस मामले की जांच एनआईए (NIA) करेगी। इसके लिए जल्द ही एनआईए इस इलाके का दौरा करेगी।

यह भी पढ़ें