जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में सेना पर हमला, जवाबी कार्रवाई के बाद भागे आतंकी

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पुलवामा (Pulwama) जिले में आतंकियों (Terrorists) ने 13 सितंबर की शाम सुरक्षाबलों की पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला (Attack) किया।

Terrorists

पारिगाम में सेना (Army) की राष्ट्रीय राइफल्स की टीम पर आतंकियों (Terrorists) ने ग्रेनेड फेंका। इस दौरान सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पुलवामा (Pulwama) जिले में आतंकियों (Terrorists) ने 13 सितंबर की शाम सुरक्षाबलों की पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला (Attack) किया। आतंकियों ने जवानों पर ग्रेनेड से हमला किया। हालांकि, इस हमले में जवानों को किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है। बताया जा रहा है कि पारिगाम में सेना (Army) की राष्ट्रीय राइफल्स की टीम पर आतंकियों (Terrorists) ने ग्रेनेड फेंका।

इस दौरान सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की। जवानों की कार्रवाई के बाद आतंकी मौके से भाग निकले। बाद में पूरे इलाके को घेरकर तलाशी अभियान चलाया गया। हालांकि, आतंकियों का कोई सुराग नहीं मिल पाया। एक पुलिस अधिकारी के अनुसार, शाम 5.45 बजे आतंकवादियों ने पुलवामा के परिगाम में सेना की राष्ट्रीय राइफल्स की एक पार्टी पर गोलीबारी की।

Chhattisgarh: बस्तर पुलिस ने किया बड़ा खुलासा, मीनपा मुठभेड़ में मारे गए थे 23 नक्सली

उन्होंने बताया कि सेना ने भी जवाबी कार्रवाई की, लेकिन आतंकी फरार होने में कामयाब रहे। दरअसल, सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आतंकियों (Terrorists) के खिलाफ जबरदस्त सख्ती की है। एनकाउंटर (Encounter) में कई बड़े आतंकी कमांडर (Terrorist Commanders) मारे जा रहे हैं। इससे आतंकी बौखला गए हैं और वे इस तरह की नापाक हरकतें कर रहे हैं।

14 सितंबर को भी जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के बारामूला जिले में सुरक्षाबलों ने आतंकियों (Terrorists) की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया। सुरक्षाबलों ने यहां सेना के काफिले को निशाना बनाने के लिए आतंकवादियों द्वारा लगाए गए विस्फोटक डिवाइस का पता लगाया। । इसे समय रहते निष्क्रिय कर दिया गया, जिससे एक बड़ा हादसा टल गया।

ये भी देखें-

पुलिस सूत्रों ने यह जानकारी दी। जानकारी के मुताबिक, पट्टन इलाके में श्रीनगर-बारामूला राजमार्ग पर सेना के रोड ओपनिंग पार्टी (आरओपी) द्वारा विस्फोटकों का पता लगाया गया। पुलिस सूत्रों ने कहा, “बाद में बम निरोधक दस्ते द्वारा इसे निष्क्रिय कर दिया गया, जिन्हें तुरंत बुलाया गया था, अन्यथा इससे बड़ी त्रासदी हो सकती थी।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें