जम्मू-कश्मीर: साल 2019 में आतंकियों का पहला हमला, एसपीओ को बनाया निशाना

नए साल के पहले दिन जब पूरा देश जश्न मना रहा था, तो घाटी में आतंकी खूनी खेल की तैयारी कर रहे थे। आतंकियों के खूनी मंसूबे का शिकार बने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में स्पेशल पुलिस अधिकारी समीर अहमद। आतंकियों ने 1 जनवरी की शाम को समीर अहमद के घर पर उनको गोली मार दी। इस हमले में वह गंभीर रूप से घायल हो गए। जिसके बाद इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

Pulwama Attack, Pulwama, Jammu Kashmir, New Year
आतंकी हमले में स्पेशल पुलिस अधिकारी समीर अहमद शहीद।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, आतंकियों ने दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में एसपीओ पर हमला किया। एसपीओ की पहचान हाजिन-पईन राजपोरा के रहने वाले समीर अहमद के रूप में हुई है। जिसके बाद उन्हें इलाज के लिए तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान एसपीओ ने दम तोड़ दिया। वहीं आतंकियों की तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन जारी है।

उधर आतंकियों ने मंगलवार को दक्षिणी कश्मीर में नेकां नेता के घर और सीआरपीएफ कैंप पर भी ग्रेनेड हमला किया। हालांकि, दोनों ही घटनाओं में किसी प्रकार के नुकसान की खबर नहीं है। घटना के बाद पूरे इलाके को घेरकर सर्च आपरेशन चलाया गया।

रिपोर्ट के अनुसार, आतंकियों ने सोमवार और मंगलवार की रात त्राल इलाके के मिदूरा गांव में सीआरपीएफ की 180 बटालियन के कैंप पर यूबीजीएल ग्रेनेड दागा। इसके बाद अंधाधुंध फायरिंग की। जवानों ने जवाबी कार्रवाई की तो आतंकी भाग निकले। हालांकि, इसमें किसी प्रकार के नुकसान की खबर नहीं है।

दोपहर बाद आतंकियों ने नेशनल कांफ्रेंस के नेता मोहम्मद अशरफ भट के त्राल स्थित आवास पर यूबीजीएल ग्रेनेड दागा। निशाना चूक जाने से यह ग्रेनेड बाहर गिरकर ही फट गया। यह 10वां मौका है जब आतंकियों ने उनके घर को निशाना बनाया। इसके पहले भी उनके घर पर ग्रेनेड दागने के साथ ही गोलाबारी की जा चुकी है। वे त्राल विधानसभा से पार्टी के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here