Jammu-Kashmir: लगातार दूसरे दिन भी हुई मुठभेड़, पुलवामा में जैश के दो आतंकी ढेर, दो जवान शहीद

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पुलवामा में 21 जनवरी को हुई एक मुठभेड़ में भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवानों ने जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकियों (Terrorists) को मार गिराया।

Terrorists

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पुलवामा में 21 जनवरी को हुई एक मुठभेड़ में भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर के जवानों ने जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकियों (Terrorists) को मार गिराया।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पुलवामा में 21 जनवरी को हुई एक मुठभेड़ में भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवानों ने जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकियों (Terrorists) को मार गिराया। पुलिस सूत्रों का कहना है कि यह दोनों आतंकी बीते कुछ वक्त से पुलवामा में ही एक्टिव थे। इस आतंकी मुठभेड़ में जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक एसपी रैंक अधिकारी और भारतीय सेना का एक जवान शहीद हो गया।

Terrorists
फाइल फोटो।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पुलवामा में 21 जनवरी को हुई एक मुठभेड़ में भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवानों ने जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकियों (Terrorists) को मार गिराया। पुलिस सूत्रों का कहना है कि यह दोनों आतंकी बीते कुछ वक्त से पुलवामा में ही एक्टिव थे। इस आतंकी मुठभेड़ में जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक एसपी रैंक अधिकारी और भारतीय सेना का एक जवान शहीद हो गया। मिली जानकारी के अनुसार, सेना को मिलिट्री इंटेलिजेंस की टीमों से 21 जनवरी की सुबह पुलवामा के अवंतिपोरा इलाके में 2 संदिग्ध आतंकियों (Terrorists) के छिपे होने के इनपुट्स मिले थे। इस सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए तत्काल यहां सेना की राष्ट्रीय राइफल्स (RR), जम्मू-कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप और सीआरपीएफ (CRPF) की टीमों को भेजा गया।

इसके बाद अवंतिपोरा के जंतरनाग गांव में आतंकियों (Terrorists) की तलाश के लिए सुरक्षाबलों द्वारा सख्त घेराबंदी कर दी गई। जैसे ही गांव में सुरक्षाबलों ने अपना सर्च ऑपरेशन शुरू किया, आतंकियों ने गोलीबारी कर वहां से भागने की कोशिश की। इसके बाद गांव के एक मकान में इन आतंकियों को घेरकर जवाबी कार्रवाई शुरू की गई। 2 घंटे तक हुई गोलीबारी के बाद सेना ने दो आतंकियों को मार गिराया। इसके बाद जवानों ने मुठभेड़ स्थल को सील कर दिया और इलाके में कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया। मारे गए एक आतंकी की पहचान रईस अहमद डार के तौर पर हुई है। मुठभेड़ में सेना का एक जवान और पुलिस के एसपीओ शाहबाज अहमद भी शहीद हो गए। इससे पहले, कश्मीर के शोपियां जिले में 20 जनवरी को सुरक्षाबलों के साथ हुई एक मुठभेड़ में प्रतिबंधित आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के तीन आतंकवादी (Terrorists) मारे गए थे।

सेना की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है, ”एक संयुक्त अभियान में प्रतिबंधित आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकवादी मारे गए हैं। हथियारों का जखीरा बरामद हुआ है। अन्य विवरण जुटाए जा रहे हैं।” मारे गए आतंकवादियों (Terrorists) में से एक आदिल शेख है। वह शोपियां का ही रहने वाला था। यह जम्मू-कश्मीर पुलिस में एसपीओ के पद पर भी रह चुका था। जहां से भाग कर यह आतंकी संगठन हिजबुल में शामिल हो गया था। उसने 29 सितंबर, 2018 को जवाहर नगर श्रीनगर से पीडीपी के तत्कालीन विधायक एजाज मीर के घर से 8 हथियार लूटे थे। दूसरा आतंकी वसीम वानी है, जबकि तीसरे आतंकी की पहचान जहांगीर मलिक के रूप में हुई है।

पढ़ें: बड़ी वारदात को अंजाम देने की कर रहे थे प्लानिंग, औरंगाबाद से PLFI के 4 नक्सली धराए

यह भी पढ़ें