जम्मू कश्मीर में फोन और इंटरनेट सेवा आंशिक रूप से बहाल, ईद के लिए और भी ढील दी जाएगी

Artcile 370 हटाए जाने के पहले से जम्मू कश्मीर में एहतियातन सिक्योरिटी लॉकडाउन कर दिया गया था। इस लॉक डाउन के बाद शुक्रवार को सूबे में आंशिक रूप से फोन और इंटरनेट सेवा को शुक्रवार सुबह आंशिक रूप से बहाल कर दिया गया है।

Jammu and Kashmir, Article 370, Jammu and Kashmir Friday prayers, pakistan Foreign Minister, Shah Mehmood Qureshi, Kashmir, Pakistan, america, Jammu and Kashmir, Ladakh, kashmir article 370, article 370, India Pakistan, पाकिस्तान, अमेरिका, भारत, कश्मीर नीति, धारा 370, अनुच्छेद 370

कश्मीर में जुमे की नमाज के लिए दी गई ढील। फाइल फोटो।

Artcile 370 हटाए जाने के पहले से जम्मू कश्मीर में एहतियातन सिक्योरिटी लॉकडाउन कर दिया गया था। इस लॉक डाउन के बाद शुक्रवार को सूबे में आंशिक रूप से फोन और इंटरनेट सेवा को शुक्रवार सुबह आंशिक रूप से बहाल कर दिया गया है। जुमे की नमाज के लिए आवाजाही पर लगाई गई पाबंदियों में भी ढील दी गई है।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटे जाने के बाद वहां की स्थिति पर नजर रखने के लिए काफी संख्या में सुरक्षाबल तैनात हैं। श्रीनगर में जामा मस्जिद का मुख्य गेट बंद था, इससे लगता है कि शहर की मुख्य मस्जिद में नमाज की संभावना कम है। हालांकि, अधिकारियों ने बताया कि शहर के भीतरी हिस्सों में स्थित छोटी मस्जिदों में नमाज पढ़ने की मंजूरी दी जाएगी।

सियासत में जरूरी है रवादारी, कांग्रेस समझती क्यों नहीं?

अधिकारियों के मुताबिक, अगर नमाज बिना किसी हंगामे के हो जाती है तो पाबंदियों को और ज्यादा कम कर दिया जाएगा। बता दें कि एहतियात के तौर पर पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला सहित 400 राजनेताओं को हिरासत में रखा गया है। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने गुरुवार को स्थिति का जायजा लिया था और भरोसा दिलाया था कि जुमे की नमाज और अगले सप्ताह ईद के लिए पाबंदियों में ढील दी जाएगी।

वहीं देश के नाम संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के लोगों को आश्वासन दिया कि सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि उन्हें 12 अगस्त को ईद मनाने में किसी भी तरह की मुश्किलों का सामना न करना पड़े। केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विभाजित करने के फैसले पर प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम संबोधन दिया।

अमेरिका की पाकिस्तान को नसीहत- भारत को धमकी ना दे, आतंकवाद के खिलाफ करे कार्रवाई

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App