जम्मू-कश्मीर: बर्फीले मौसम की आड़ में आतंकी घुसपैठ की फिराक में पाकिस्तान, सीमा पर तैनात जवानों के लिए मुसीबत बना घना कोहरा

सीमा का ये इलाका वैसे भी आतंकी घुसपैठ को लेकर मुफीद माना जाता है। सांबा और हीरानगर सेक्टर कई बार आतंकवादियों (Terrorists) की घुसपैठ को लेकर सुर्खियों में भी रहा है।

Terrorists

जम्मू कश्मीर में बर्फीले मौसम और घने कोहरे ने सीमा पर तैनात सुरक्षाबलों के लिए चुनौतियां बढ़ा दी है। नियंत्रण रेखा हो या फिर भारत–पाक सीमा यहां तैनात सुरक्षाबलों को खराब मौसम से लड़ते हुए पाकिस्तान की हर साजिश को विफल करना एक चुनौती है। जम्मू के राजौरी–पुंछ जिले से लेकर घाटी के उत्तरी कश्मीर के बारामूला जिले की एलओसी पर भारी बर्फबारी व खराब मौसम के कारण आतंकवादियों (Terrorists) की घुसपैठ की आशंका बनी हुई है। वहीं आजकल बॉर्डर पर घने कोहरे के कारण ही पाक अपनी नापाक साजिशों को अंजाम देने की कोशिश में लगा हुआ है।

गुमला पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, एक लाख का इनामी नक्सली और PLFI का एरिया कमांडर पकड़ा गया

सीमा पार बने आंतकी लांचिंग पैड्स पर भारी संख्या में हाईटेक हथियारों के साथ विदेशी मूल के आतंकवादी घुसपैठ की फिराक में बैठे हुये हैं। पिछले दिनों भारत–पाक सीमा के सांबा सेक्टर में सीमा पार से ओवर ग्राउंड वर्कर्स को मिलने वाले खुफिया संदेश पकड़े गए थे। सीमा का ये इलाका वैसे भी आतंकी घुसपैठ को लेकर मुफीद माना जाता है। सांबा और हीरानगर सेक्टर कई बार आतंकवादियों (Terrorists) की घुसपैठ को लेकर सुर्खियों में भी रहा है।

पड़ोसी देश पाकिस्तान की ओर से चीन निर्मित ड्रोन की घुसपैठ इस इलाके में कई बार देखी गई है। अंतर्राष्ट्रीय बॉर्डर के समीप इस इलाके में बहने वाली नदी-नालों व घने जंगलों की आड में आंतकी घुसपैठ करने में सफल होते रहे हैं। लेकिन भारतीय जवान बेहद सतर्क हैं। वहीं जिस प्रकार शनिवार को पुंछ के बॉर्डर के समीप वाले इलाके में तीसरी बार हथियारों की खेप पकड़ी गई‚ उससे यह आशंका प्रबल होती है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई अंतर्राष्ट्रीय बॉर्डर के समीप राजौरी व पुंछ जिले में किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने की कोशिश में है।

सूत्रों के अनुसार, 30 दिसम्बर को राजौरी के तारकुंडी सेक्टर में भी सीमा पार से आतंकवादियों (Terrorists) के एक बड़े दस्ते ने घुसपैठ की कोशिश की थी। लेकिन सेना के अलर्ट जवानों ने जवाबी कार्रवाई कर घुसपैठ को विफल कर दिया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें