15 दिन में 7 आतंकी ढेर, J&K के डीजीपी का बयान- हिजबुल का खात्मा जल्द

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा है कि हम दक्षिण कश्मीर में हिजबुल मुजाहिद्दीन के खात्मे के बेहद करीब हैं। बीते 15 दिनों में सुरक्षाबलों की कार्रवाई में सात आतंकी मारे जा चुके हैं। 20 जनवरी को सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में हिजबुल मुजाहिद्दीन के 3 आंतकियों को मार गिराया था।

Jammu-Kashmir
डीजीपी दिलबाग सिंह।

पिछले हफ्ते भी जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के त्राल के गुलशनपोरा में मुठभेड़ में हिजबुल और जैश के तीन आतंकी मारे गए थे। देविंदर सिंह केस पर डीजीपी सिंह ने कहा, ‘निलंबित डीएसपी देविंदर सिंह का मामला एनआईए (NIA) को ट्रांसफर किया जा चुका है। ऐसे में मेरा इस मामले में कमेंट करना, ठीक नहीं होगा। कुछ बातें निकलकर सामने आई हैं, जो एनआईए (NIA) को बताई जा चुकी हैं। सिंह की कस्टडी भी जांच एजेंसी को दी जा चुकी है। जांच सही दिशा में चल रही है। जहां तक देविंदर के बांग्लादेश जाने का सवाल है तो हमारी जानकारी के मुताबिक, उसकी बेटी बांग्लादेश में पढ़ाई करती है। अब देविंदर का क्या केवल इसलिए बांग्लादेश जाता था, इस एंगल पर जांच चल रही है।’

वहीं कश्मीर में डी-रेडिकलाइजेशन केंद्रों के संबंध में डीजीपी ने कहा कि अगर ऐसी कोई व्यवस्था होती है तो यह एक अच्छा संकेत होगा। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि ऐसी व्यवस्था अवश्य होनी चाहिए। इससे लोगों को काफी मदद मिलेगी। खासकर जो लोग मुख्य धारा से भटक गए हैं उन्हें इससे लाभ मिलेगा। सिंह ने कहा कि इस तरह की चीजों का स्वागत किया जाना चाहिए। बता दें कि जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के शोपियां में 20 जनवरी को सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में हिजबुल मुजाहिद्दीन के 3 आंतकियों को मार गिराया था। शोपियां में मारे गए 3 आतंकियों में से एक कमांडर वसीम अहमद वानी था, जो घाटी में 2017 से सक्रिय था।

आतंकी वसीम अहमद वानी वह हिजबुल मुजाहिद्दीन का शीर्ष कमांडर था। उस पर चार नागरिकों और चार पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोप है। उसके खिलाफ 19 एफआईआर दर्ज हैं। दूसरे आतंकी का नाम आदिल शेख है, जबकि तीसरे आतंकी की पहचान जहांगीर मलिक के रूप में हुई है। पिछले सप्ताह जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के डोडा जिले में सुरक्षाबलों के एनकाउंटर में हिजबुल मुजाहिद्दीन का शीर्ष आतंकी मारा गया था, जिसकी पहचान हारुन हफज के रूप में हुई थी। पिछले हफ्ते ही त्राल के गुलशनपोरा में मुठभेड़ में हिजबुल और जैश के तीन आतंकी मारे गए थे। मारे गए आतंकी उमर फैयाज लोन और आदिल बशीर मीर आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के थे, जबकि तीसरा आंतकी फैजान अहमद भट्‌ट जैश-ए-मोहम्मद से संबंध रखता था।

पढ़ें: ISI एजेंट गिरफ्तार, पाक आकाओं को भेज रहा था गोपनीय जानकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here