जम्मू-कश्मीर: डीजीपी ने कहा, घाटी में मौजूद हैं 200-300 आतंकी

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद से ही पाकिस्तान में पल रहे आतंकी भारत में हमला करने की फिराक में हैं। आए दिन बॉर्डर पर पाकिस्तानी सेना सीजफायर तोड़ रही है तो वहीं उसकी आड़ में आतंकी भारत में घुसने की कोशिश कर रहे हैं। जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह (Dilbagh Singh) ने 6 अक्टूबर को इससे जुड़ी एक बड़ी जानकारी दी।

Dilbagh Singh
जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह

दिलबाग सिंह (Dilbagh Singh) ने बताया है कि घाटी में अभी भी 200 से 300 आतंकी मौजूद हैं, जो घाटी के अलावा देश के अन्य राज्यों को दहलाने की फिराक में हैं। पाकिस्तान (Pakistan) ने अधिक से अधिक संख्या में आतंकवादियों को भारतीय सीमा में घुसपैठ कराने के लिए सीमापार से गोलीबारी तेज कर दी है। दिलबाग सिंह ने कहा कि हालांकि हमारी सुरक्षा व्यवस्था सख्त है। उन्होंने यह भी कहा कि हाल ही में सीमा पार से बड़ी संख्या में आतंकवादी राज्य में घुसने में कामयाब रहे हैं। जबकि घुसपैठ निरोधक व्यवस्था ने कई घुसपैठियों का सफाया कर उनकी कई कोशिशें विफल कर दी हैं।

पुंछ में मीडिया से बात करते हुए दिलबाग सिंह (Dilbagh Singh) ने कहा कि पाकिस्तानी रेंजर्स और सेना जम्मू के कानाचक, हीरानगर, आरएस पुरा, राजौरी, पुंछ, उरी, करनाह, केरन और अन्य इलाकों में सीजफायर का उल्लंघन कर रही है, जिसकी आड़ में वो आतंकियों की घुसपैठ करा रहे हैं। पुलिस महानिदेशक ने कहा कि भारतीय सेना इसका मुंहतोड़ जवाब दे रही है और आतंकी घुसपैठ को नाकाम भी किया जा रहा है। दिलबाग सिंह (Dilbagh Singh) ने कहा कि हमें ऐसी जानकारी है कि जम्मू-कश्मीर में मौजूद आतंकी किसी बड़े हमले की साजिश को रच रहे हैं, लेकिन आए दिन आतंकियों के साथ मुठभेड़ हो रही हैं, जिसमें हम आतंकियों का सफाया कर रहे हैं।

सिंह ने कहा, ‘इस तरफ आने के बाद कुछ मुठभेड़ हुई और कुछ आतंकवादियों का सफाया भी हुआ। गुलमर्ग सेक्टर में दो पाकिस्तानी आतंकवादी गिरफ्तार किए गए और गांदेरबल में चार दिन के अभियान में दो आतंकवादी मारे गए।’ उन्होंने कहा कि कुछ स्थानों पर कुछ आतंकवादी देखे गए हैं और हमने उनके खिलाफ अभियान तेज कर दिया है। आर्टिकल 370 हटने के बाद राज्य की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर दिलबाग सिंह (Dilbagh Singh) ने कहा कि जम्मू और लद्दाख में पूरी तरह से शांति है, यहां हालात काबू में हैं। 

पढ़ें: पुलिस ने पहले 2 लाख के इनामी नक्सली को मार गिराया, फिर किया अंतिम संस्कार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here