जम्मू कश्मीर: भारतीय सीमा में पाक ड्रोनों की घुसपैठ लगातार जारी, BSF ने उड़ती हुई चीज पर चलाई गोलियां

दो जुलाई को भी पाकिस्तान के क्वाडकॉप्टर (Drone) ने अरनिया सेक्टर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा से भारतीय क्षेत्र में प्रवेश करने की कोशिश की थी, लेकिन बीएसएफ के जवानों द्वारा गोली चलाए जाने के बाद वह पीछे हट गया था।

Drones

जम्मू कश्मीर में सीमा सुरक्षा बल (BSF) के जवानों ने अरनिया सेक्टर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास एक उड़ती हुई वस्तु पर गोलियां चलाई, जिसमें लाल रंग की रोशनी चमक रही थी। एक्सपर्ट का मानना है कि ये चमकती चीज पाकिस्तान द्वारा संचालित ड्रोन (Drone) हो सकती है।

भारतीय सेना ने चीन के साथ मौजूदा झड़प की खबरों को निराधार बताया, कहा- चीन के साथ सैन्य समझौता कायम

सुरक्षाबल के वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, 13 और 14 जुलाई की दरमियानी रात अरनिया सेक्टर में जवानों ने करीब 200 मीटर की ऊंचाई पर टिमटिमाती लाल बत्ती दिखाई दी। जिसके खिलाफ त्वरित कार्रवाई करते हुये हमारे जवानों ने उसको निशाना बनाते हुये गोलियां चलाई, जिससे वह लाल बत्ती वाली चीज वहां से गायब हो गई। इलाके में तलाशी अभियान जारी है। हालांकि अभी तक कुछ भी बरामद नहीं हुआ है।

गौरतलब है कि दो जुलाई को पाकिस्तान के क्वाडकॉप्टर (Drone) ने अरनिया सेक्टर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा से भारतीय क्षेत्र में प्रवेश करने की कोशिश की थी, लेकिन बीएसएफ के जवानों द्वारा गोली चलाए जाने के बाद वह पीछे हट गया था।

दरअसल पिछले महीने की 27 तारीख को जम्मू एयर फोर्स स्टेशन पर हुये दो ड्रोन हमले के बाद से राज्य में कई बार पाकिस्तानी ड्रोनों ने हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया है। खूफिया रिपोर्ट के मुताबिक, सीमा पार पीओके क्षेत्र में पाक सेना की शह पर आतंकियों को ड्रोन (Drone) की ट्रेनिंग दी जी रही है। जिससे कि ये आतंकी भारतीय सीमा में आतंकी हमले, घाटी के आतंकियों को हथियार सप्लाई और नशीले पदार्थों की तस्करी कर सकें। फिलहाल भारतीय सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हैं और पाक के किसी भी अचानक हमले का जवाब देने के लिए तैयार हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें