ट्रंप ने फिर अलापा मध्यस्थता का राग, कश्मीर में हिंदू-मुसलमान का उठाया मुद्दा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कश्मीर की ‘विस्फोटक’ स्थिति पर एक बार फिर मध्यस्थता की पेशकश की है। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि इस सप्ताह के अंत में वह फ्रांस में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे। दरअसल, इस सप्ताह के अंत में डोनाल्ड ट्रंप और मोदी फ्रांस में जी7 की बैठक के दौरान मुलाकात करेगें, जहां ट्रंप मोदी के साथ इस मुद्दे पर बात कर सकते हैं। ट्रंप ने कहा कि कश्मीर एक जटिल समस्या है। उन्होंने कहा,’यहां हिंदू भी हैं और मुसलमान भी और मैं ये नहीं कहूंगा कि उनके बीच ज्यादा मेलजोल है। यह मसला बहुत लंबे अरसे से चल रहा है और ये एक जटिल मामला है। मध्यस्थता के लिए जो भी बेहतर हो सकेगा, मैं वो करूंगा। प्रधानमंत्री इमरान खान और मोदी से मेरे अच्छे संबंध हैं। इस हफ्ते के अंत में मैं मोदी से मुलाकात भी करूंगा।’ ट्रंप ने कहा कि वो भारत और पाकिस्तान के नेताओं के साथ संपर्क में हैं।

हालांकि, भारत हमेशा कश्मीर के मुद्दे पर किसी भी मध्यस्थता की पेशकश को खारिज करता आया है। इससे पहले भी राष्ट्रपति ट्रंप ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के अमरीकी दौरे के दौरान कश्मीर पर मध्यस्थता की पेशकश कर दी थी और कहा था कि मोदी ने उनसे कश्मीर के मुद्दे पर मध्यस्थता करने को कहा था। लेकिन भारत ने ट्रंप के इस दावे को खारिज कर दिया था। गौरतलब है कि कश्मीर पर राष्ट्रपति ट्रंप का यह बयान प्रधानमंत्री मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ फोन पर की गई अलग-अलग बातचीत के बाद आया है। करीब आधे घंटे की इस बातचीत में पीएम मोदी ने दोनों देशों के संबंधों और क्षेत्रीय मसलों को लेकर ट्रंप से चर्चा की।

पढ़ें: 26 जवानों की हत्या की आरोपी महिला ने पुलिस कप्तान को बांधी राखी

मोदी ने डोनाल्ड ट्रंप से यह साफ कर दिया कि पाकिस्तान को आतंकवाद का रास्ता छोड़ना ही होगा। पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति से कहा कि यदि कोई भी देश शांति के इस रास्ते पर चलता है तो भारत उसका साथ देने को तत्पर है। इस रास्ते से ही गरीबी, अशिक्षा और बीमारियों से लड़ा जा सकता है। मोदी के फोन के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी डोनाल्ड ट्रंप से बात की। ट्रंप ने इमरान से तनाव बढ़ाने से रोकने और ऐसी स्थिति से बचने की सलाह दी। ट्रंप ने कश्मीर पर दोनों देशों से तनाव कम करने का आग्रह किया। डोनाल्ड ट्रंप ने इमरान खान कोजम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर भारत के खिलाफ बयानबाजी पर संयम बरतने की नसीहत दी।

दोनों नेताओं से बात के बाद ट्रंप ने क्षेत्र में स्थिति को ‘कठिन’ बताते हुए कहा कि उनकी दोनों पीएम से अच्छी बात हुई। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर दोनों नेताओं से बात करने की जानकारी दी। ट्रंप ने कहा था, ‘मैंने दो अच्छे दोस्तों पीएम मोदी और पीएम इमरान खान से ट्रेड, रणनीतिक साझेदारी और सबसे खास बात कश्मीर में तनाव करने को लेकर बात हुई।’ उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि स्थिति ‘कठिन’ है लेकिन अच्छी बात हुई है। उधर पाकिस्तान ने कहा है कि वह कश्मीर मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में उठाने की तैयारी कर रहा है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने यह बात कही है।

पढ़ें: गोलियां और ग्रेनेड के छर्रे लगने के बाद भी डटा रहा यह दिलेर, मार गिराए थे जैश के तीन आतंकी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here