अब ब्रिटिश सांसद बोले, PoK पर भारत का अधिकार है

Bob Blackman, Jammu And Kashmir, Article 370, Pakistan, PoK, sirf sach, sirfsach.in, बॉब ब्लैकमैन, ब्रिटिश एमपी, ब्रिटिश सांसद, आर्टिकल 370, जम्मू-कश्मीर, पाकिस्तान, सिर्फ सच

जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रहीं। पाकिस्तान को किसी भी देश का साथ तो नहीं मिला, ऊपर से अब पीओके (PoK) को लेकर भी बातें शुरू हो गई हैं। ताजा मामले में कश्मीर मामले पर ब्रिटेन के सांसद बॉब ब्लैकमैन ने पाकिस्तान से पीओके को छोड़ने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि इस पूरे क्षेत्र पर भारत का अधिकार है। लंदन में ब्रिटेन स्थित कश्मीरी पंडितों के एक समूह को संबोधित करते हुए कंजरवेटिव पार्टी के एमपी बॉब ब्लैकमैन ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान द्वारा इस मुद्दे पर यूएन में प्रस्ताव पेश करने की योजना पर सवाल खड़े किए।

बॉब ब्लैकमैन ने कहा, ‘पूरा जम्मू-कश्मीर संप्रभु भारत का हिस्सा है। ऐसे लोग, जो वहां संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव को लागू करने की बात करते हैं, वे उस प्रस्ताव को भूल जाते हैं, जिसके मुताबिक राज्य के एकीकरण के लिए पाकिस्तानी सेना को कश्मीर छोड़ देना चाहिए।’ आपको बता दें कि ब्लैकमैन बलिदान दिवस पर आयोजित खास कार्यक्रम में अपनी बात रख रहे थे। इस कार्यक्रम का आयोजन कश्मीरी पंडित कल्चरल सोसायटी और ऑल इंडिया कश्मीरी समाज (AIKS) ने किया था। कार्यक्रम में एक नाटक का भी मंचन किया गया। जिसका शीर्षक था- ‘वी रिमेंबर: द जर्नी ऑफ कश्मीरी पंडित्स।’

पढ़ें: तीन अलग-अलग जगहों पर हुई मुठभेड़ में 6 नक्सली ढेर

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से ही नॉर्थ लंदन से एमपी बॉब ब्लैकमैन इस फैसले का समर्थन करते रहे हैं और भारत के पक्ष में बोलते रहे हैं। वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी प्रशंसक हैं। हाल ही में सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 को हटा दिया था। इसके बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बना हुआ है। अनुच्छेद 370 के बाद कई बड़े नेताओं ने पाओके को लेतक बयान दिया था। बीजेपी नेता जितेंद्र सिंह ने 10 सितंबर को कहा था कि हमारा अगला एजेंडा पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) को वापस लेना है और इसे भारत का अभिन्न हिस्सा बनाना है।

जितेंद्र सिंह ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के मुद्दे पर कहा,”यह केवल मेरी या मेरी पार्टी की प्रतिबद्धता नहीं है बल्कि यह 1994 में पीवी नरसिंह राव के नेतृत्व वाली तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा सर्वसम्मति से पारित संकल्प है। यह एक स्वीकार्य रुख है।” जम्मू में एक कार्यक्रम में जितेंद्र सिंह ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार के पहले 100 दिनों की सबसे बड़ी उपलब्धि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 को हटाना है और हमारा अगला एजेंडा पाक अधिकृत कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाना है। इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा था कि पाकिस्तान से अब अगली बातचीत पीओके को लेकर होगी। गृहमंत्री अमित शाह ने भी संसद में 370 पर विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए संसद में कहा था कि हम जान दे देंगे, लेकिन पीओके लेकर रहेंगे।

पढ़ें: जैश-ए-मोहम्मद ने दी भारत में हमले की धमकी, रेलवे पुलिस को मिली संदिग्ध चिट्ठी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here