जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग में सुरक्षाबलों पर आतंकी हमला, 10 घायल

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग (Anantnag) जिले में सुरक्षाबलों पर आतंकियों ने हमला कर दिया। यह हमला 5 अक्टूबर को डिप्टी कमिश्नर (डीसी) ऑफिस के बाहर गेट पर हुआ। आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड फेंका। इस हमले में एक यातायात पुलिसकर्मी और पत्रकार सहित 10 लोग घायल हो गए। घायलों में 12 साल का एक बच्चा भी शामिल है।

Anantnag
अनंतनाग में आतंकी हमला

पुलिस के मुताबिक, अनंतनाग (Anantnag) में कड़ी सुरक्षा वाले परिसर के बाहर सुरक्षा गश्ती दल पर सुबह करीब 11 बजे ग्रेनेड फेंका गया। ग्रेनेड का निशाना चूक जाने के कारण वह सड़क के पास ही फट गया, जिससे वहां गुजर रहे 10 लोग घायल हो गए। घायलों का अस्पताल में भर्ती कराया गया। हमले के बाद इलाके में तनाव पैदा हो गया है। अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने इलाके की घेराबंदी कर हमले में शामिल आतंकवादियों की तलाश शुरू कर दी है। अभी तक किसी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। गौरतलब है कि 5 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के 2 महीने पूरे हो गए हैं। आतंकी लगातार घाटी में इसका विरोध कर रहे हैं और वहां अशांति फैलाने की कोशिश में लगे हैं। पाकिस्तान भी जम्मू-कश्मीर पर भारत सरकार के इस फैसले का लगातार विरोध कर रहा है। 

सीमा पार बैठे आतंकी भी LoC से घुसपैठ कर घाटी में हमले की फिराक में हैं। सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक, सीमा पार बड़ी संख्या में आतंकी इकट्ठे हुए हैं जो मौका मिलते ही जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ कर सकते हैं। इसी बीच, पाकिस्तानी सेना ने जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में अग्रिम चौकियों और आबादी वाले इलाकों को निशाना बनाया। इसमें एक पोर्टर की मौत हो गई और एक अन्य घायल हो गया। आधिकारिक सूत्रों ने 5 अक्टूबर को यह जानकारी दी। जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तानी सैनिकों ने 4 अक्टूबर को संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए गोलीबारी की। इस घटना में पाकिस्तान की तरफ से दागा गया एक गोला फट गया।

इस दौरान पोर्टरों का एक समूह वहां से गुजर रहा था। गोला फटने से दो पोर्टर गंभीर रूप से घायल हो गये। दोनों को तुरंत अस्पताल में ले जाया गया। जहां इनमें से एक पोर्टर इश्तियाक अहमद की मौत हो गई। भारतीय सेना ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए सीमा पार पाकिस्तानी चौकियों को निशाना बनाया। नियंत्रण रेखा पर तैनात भारतीय जवान पहले से ही सतर्क हैं और पाकिस्तान की किसी भी कार्रवाई को नाकाम करने के लिए पूरी तरह सजग हैं।

पढ़ें: जमीन पर लेटकर महिलाओं ने दी शहीद खंजन को आखिरी विदाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here