जम्मू कश्मीर: जांच के घेरे में जुलाई में हुई मुठभेड़, दफनाए गए 3 शवों को निकालकर किया जाएगा DNA टेस्ट

परिवार की पुलिस में शिकायत के बाद, सैन्य अधिकारियों ने मामले की जांच शुरू की है।

Pakistan

सांकेतिक तस्वीर

सोमवार को इस मामले में श्रीनगर में रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बयान भी जारी किया था। उन्होंने कहा था कि सेना ने 18 जुलाई को शोपियां में अभियान से जुड़ी सूचनाओं को संज्ञान में लिया है।

कश्मीर में भारतीय सेना (Indian Army ) लगातार आतंकियों के खिलाफ अभियान चला रही है। लेकिन इस बीच शोपियां (Shopian) में जुलाई में हुई एक मुठभेड़ जांच के घेरे में है। इस मुठभेड़ में 3 आतंकी मारे गए थे। लेकिन अब एक परिवार ने शिकायत दर्ज कराई है कि जिस इलाके में ये मुठभेड़ हुई, वहां से उस परिवार के 3 सदस्य लापता हो गए थे।

परिवार की पुलिस में शिकायत के बाद, सैन्य अधिकारियों ने मामले की जांच शुरू की है। मीडिया रिपोर्ट में सेना के सूत्रों का कहना है कि दफन किए गए शवों को बाहर निकाला जाएगा और फिर उनका DNA टेस्ट किया जाएगा।

सोमवार को इस मामले में श्रीनगर में रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बयान भी जारी किया था। उन्होंने कहा था कि सेना ने 18 जुलाई को शोपियां में अभियान से जुड़ी सूचनाओं को संज्ञान में लिया है।

ये भी पढ़ें- देश सेवा का हौसला रखने वालों के लिए Indian Army में निकली वैकेंसी, ऐसे करें Apply

रक्षा प्रवक्ता ने ये भी कहा था कि मारे गए तीन आतंकियों की पहचान नहीं हो पाई, इसलिए प्रावधान के तहत शवों को दफना दिया गया था। अब सेना इस मामले की जांच कर रही है।

ये शिकायत जिस परिवार ने दर्ज कराई है, वह पुंछ में राजौरी इलाके के कोटरांका में धार सकरी गांव का है। ये तीनों युवक भी वहीं के हैं।

परिवार का कहना है कि तीनों युवकों से उन्होंने 16 जुलाई को आखिरी बार बात की थी। ये युवक सेब और अखरोट का कारोबार करते थे।

युवकों ने आखिरी बार अपने एक रिश्तेदार लाल हुसैन से भी बात की थी, जिसमें उन्होंने ये बताया था कि उन्हें शोपियां के आशिपुरा में एक कमरा मिल गया है।

परिवार की शिकायत में कहा गया है कि अगले ही दिन उन्हें खबर मिली कि उसी जगह मुठभेड़ हुई है, जिसके बाद से इन तीनों युवाओं का कोई पता नहीं लग पाया है। लापता युवकों का नाम इम्तियाज अहमद (26), इबरार अहमद (18) और इबरार अहमद (21) है।

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें