जम्मू कश्मीर: बीते 9 महीने में 130 युवक बने आतंकी, 55 हुए ढेर, जानें चौंकाने वाला आंकड़ा

Jammu and Kashmir: अधिकारियों के मुताबिक, 2020 में 130 युवक आतंकी बने, जिसमें 55 मारे गए हैं और 29 को पकड़े जाने का भी दावा किया गया है।

Jammu and Kashmir

सांकेतिक तस्वीर।

घाटी (Jammu and Kashmir) में जो युवा आतंकवाद की तरफ जा रहे हैं, उनके लिए भारतीय सेना ‘ऑपरेशन मां’ चला रही है, इसके तहत आतंकियों के परिजनों को उनके सामने लाया जाता है, उनसे हथियार डालने के लिए कहा जाता है।

जम्मू कश्मीर: घाटी में आतंकवाद एक प्रमुख समस्या है। इससे निपटने के लिए सुरक्षाबलों की ओर से लगातार अभियान चलाया जा रहा है, लेकिन फिर भी आतंकी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं।

जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) में आतंकवाद से जुड़े कुछ आंकड़े सामने आए हैं, जो चौंकाने वाले हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक साल 2019 में 140 युवकों ने आतंकवाद की तरफ रुख किया था, वहीं इस साल यानी 2020 में केवल 9 महीनों में ही 130 युवक आतंकी बने।

अधिकारियों के मुताबिक, 2020 में 130 युवक आतंकी बने, जिसमें 55 मारे गए हैं और 29 को पकड़े जाने का भी दावा किया गया है। इसमें से 46 आतंकियों की तलाश की जा रही है।

जिन आतंकियों को पकड़ा जाता है, उनमें ज्यादातर लोकल युवक हैं, विदेशी आतंकियों को सीधा ढेर करने की रणनीति है।

घाटी में जो युवा आतंकवाद की तरफ जा रहे हैं, उनके लिए भारतीय सेना ‘ऑपरेशन मां’ चला रही है, इसके तहत आतंकियों के परिजनों को उनके सामने लाया जाता है, उनसे हथियार डालने के लिए कहा जाता है।

ये भी पढ़ें- COVID-19: देश में कोरोना संक्रमण का आंकड़ा पहुंचा 61 लाख के पार, 24 घंटे में आए 70,589 नए केस

इससे प्रभावित होकर बीते एक साल में 70 से ज्यादा युवक अपने घरों में वापस लौटे। ये युवक पहले आतंकी संगठनों में शामिल हुए थे।

आंकड़ों के मुताबिक, 2018 में 246 आतंकी मारे गए थे, इनमें 160 के करीब लोकल आतंकी थे। साल 2019 में मारे जाने वाले 152 आतंकियों में से दो तिहाई लोकल थे। 2016 में हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी कमांडर और पोस्टर बॉय बुरहान वानी की मौत के बाद ही कश्मीरी युवाओं का रुख आतंकवाद की ओर तेजी से बढ़ा था।

आधिकारिक आंकड़े के मुताबिक बुरहान वानी की मौत के बाद 500 से ज्यादा युवा आतंकी बन गए थे।

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें