पाकिस्तान ने मसूद अजहर को किया रिहा, आतंकी हमलों को अंजाम देने की योजना

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आईबी के दो अधिकारियों ने कहा है कि पाकिस्तान ने आतंकी हमलों के लिए जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) के सरगना मसूद अजहर (Masood Azhar) को रिहा कर दिया है।

Jaish-e-mohammad, Masood Azhar, Pakistan Jail, Terror Attack plan, Intelligence report, IB report, Article 370, Pulwama Attack, FATF, sirf sach, sirfsach.in

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आईबी के दो अधिकारियों ने कहा है कि पाकिस्तान ने आतंकी हमलों के लिए जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) के सरगना मसूद अजहर (Masood Azhar) को रिहा कर दिया है।

पाकिस्तान ने जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को रिहा कर दिया है।

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 (Article 370) को हटाने के बाद से भारत-पाकिस्तान के रिश्तों में बढ़ते तनाव के बीच एक और बड़ी खबर सामने आई है। भारतीय खुफिया विभाग इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) ने जम्मू और राजस्थान बॉर्डर पर आतंकी घुसपैठ और धमाकों को लेकर अलर्ट जारी किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आईबी के दो अधिकारियों ने कहा है कि पाकिस्तान ने आतंकी हमलों के लिए जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) के सरगना मसूद अजहर (Masood Azhar) को रिहा कर दिया है। साथ ही पाक ने जम्मू और राजस्थान सेक्टर में अपने अतिरिक्त सैनिक भी तैनात किए हैं।

गौरतलब है कि, मसूद अजहर भारत में संसद, मुंबई, पुलवामा, उरी समेत कई आतंकी हमलों का मास्टरमाइंड है। मसूद अजहर की रिहाई के बाद भारतीय सेना और सुरक्षाबलों को अलर्ट कर दिया गया है। इसी साल 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा (Pulwama Attack) में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान ने मसूद अजहर को गिरफ्तार किया था। हालांकि, तब भी भारत ने कहा था कि अजहर मसूद की गिरफ्तारी महज दिखावा है।

पढ़ें: पाकिस्तान ने अपने गुर्गों को भेजा मैसेज- क्या तुम्हारे लिए हमें चूड़ियां भेजनी चाहिए?

‘हिंदुस्तान टाइम्स’ की रिपोर्ट में खुफिया एजेंसी से जुड़े सूत्रों के हवाले से लिखा गया है कि पाकिस्तान भारत में बड़े हमले की तैयारी में है। आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए ही मसूद अजहर को रिहा किया गया है। बता दें कि यूनाइटेड नेशन्स ने मसूद अजहर को इसी साल मई में ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किया है। गौरतलब है कि 9 सितंबर को FATF की रीजनल यूनिट एशिया पेसिफिक ग्रुप APG के सामने पाकिस्तान की पेशी है। पाकिस्तान के पास FATF द्वारा ब्लैकलिस्ट होने से बचने से पहले एक मौका था। पर, मसूद अजहर को रिहा कर पाकिस्‍तान ने अपने ही पैरों पर कुल्‍हाड़ी मार ली है।

मौलाना मसूद अजहर के संगठन ‘जैश-ए-मोहम्मद’ ने भारत ही नहीं अमेरिका, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और कनाडा में भी अपनी आतंकी गतिविधियों को अंजाम दे चुका है। संयुक्त राष्ट्र पहले ही इस संगठन को ब्लैकलिस्ट कर चुका है। लेकिन तमाम लगामों के बाद भी पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में यह आतंकी संगठन सालों से फलता-फूलता आ रहा था। सालों तक पाकिस्तान ने यह मानने से इनकार किया कि मसूद अजहर उसके देश में है। लेकिन हाल ही में पाकिस्तान ने यह मान लिया था कि मसूद अजहर की तबीयत खराब है और वो पाकिस्तान में ही है। उसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया था।

पढ़ें: जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर बदले पाकिस्तान-चीन के सुर, परमाणु बम की धमकी देने वाला पाक अब औकात में आया

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App