Srinivasa Ramanujan: कहानी उस जीनियस की जो एक ही सवाल को 100 तरीकों से सॉल्व करता था…

एक ही सवाल को 100 से ज्यादा तरीकों से सॉल्व करने वाले रामानुजन आज ही के दिन यानी 26 अप्रैल, 1920 को बीमार रहने के बाद दुनिया छोड़कर चले गए थे। 22 दिसंबर को जन्मे मैथ्स के इस जीनियस के जन्मदिन को भारत में ‘राष्‍ट्रीय गण‍ित द‍िवस’ के तौर पर मनाया जाता है।

Srinivasa Ramanujan

रामानुजन सिर्फ 32 साल जिए लेकिन इस दौरान उन्होंने जो फॉर्मूले दिए, उनकी मदद से दुनियाभर में आज भी लगातार वैज्ञानिक खोजें की जा रही हैं।

Srinivasa Ramanujan Death Anniversary: जीनियस यूं तो किसी भी व्यक्ति के नाम से पहले लगा देना एक चलन सा बन गया है। लेकिन इस विशेषण के सही हकदार थे महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन।

जिन गणित के सवालों का हल नहीं निकाला जा सका हो, उन्हें सुलझाते हुए श्रीनिवास रामानुजन (Srinivasa Ramanujan) खाना-पीना भूल जाते थे। इन सवालों का हल खोजते हुए ही कई बार उनकी नींद लग जाती थी। फिर आधी रात में एकाएक जागकर वे सवाल को चट से ऐसे हल करते मानो कोई मुश्किल रही ही न हो। उनका मानना था कि रात में उनकी कुलदेवी उनके सपने में आकर सवालों को हल करने में मदद करती हैं। आज इस जीनियस की पुण्यतिथि है। इस मौके पर सुनिए उनकी जिंदगी से जुड़े रोचक किस्से।

सुनिए गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन ((Srinivasa Ramanujan)) की जिंदगी से जुड़े दिलचस्प किस्सेः

एक ही सवाल को 100 से ज्यादा तरीकों से सॉल्व करने वाले रामानुजन आज ही के दिन यानी 26 अप्रैल, 1920 को बीमार रहने के बाद दुनिया छोड़कर चले गए थे। 22 दिसंबर को जन्मे मैथ्स के इस जीनियस के जन्मदिन को भारत में ‘राष्‍ट्रीय गण‍ित द‍िवस’ के तौर पर मनाया जाता है।

 

ये भी पढ़ें:- राजनीति के भद्र पुरुष को भावभीनी श्रद्धांजलि

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App