म्यांमार में तख्तापलट, आंग सान सू और राष्ट्रपति हिरासत में, एक साल के लिए लगी इमरजेंसी

Myanmar सेना का कहना है कि चुनाव में धोखाधड़ी की वजह से ऐसा किया गया है। अनेक हिस्सों में सेना तैनात की गई है, जिससे इस तख्तापलट का विरोध ना किया जा सके।

Myanmar

आंग सान सू की (फाइल फोटो)

म्यांमार (Myanmar) में पहले सेना का लंबे समय तक राज रहा है। 1962 से 2011 तक यहां सेना राज करती रही है। 2010 में यहां आम चुनाव हुए थे और पहली बार 2011 में जनता के चुने हुए प्रतिनिधि ने राज किया था।

नई दिल्ली: भारत के पड़ोसी देश म्यांमार (Myanmar) में तख्तापलट हो गया है। म्यांमार की सेना ने यहां की नेता आंग सान सू की और राष्ट्रपति विन म्यिंट को हिरासत में ले लिया है।

इसके अलावा म्यांमार (Myanmar) की सेना ने यहां एक साल की इमरजेंसी का ऐलान किया है। म्यांमार के सैन्य टेलीविजन के मुताबिक, सेना ने यहां एक साल के लिए नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया है। सेना के कमांडर इन चीफ मिन आंग ह्लाइंग के पास सत्ता रहेगी।

ओडिशा- मलकानगिरी के जंगलों में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, एक नक्सली ढेर

यहां की सेना का कहना है कि चुनाव में धोखाधड़ी की वजह से ऐसा किया गया है। देश के अनेक हिस्सों में सेना तैनात की गई है, जिससे इस तख्तापलट का विरोध ना किया जा सके।

बता दें कि म्यांमार में पहले सेना का लंबे समय तक राज रहा है। 1962 से 2011 तक यहां सेना राज करती रही है। 2010 में यहां आम चुनाव हुए थे और पहली बार 2011 में जनता के चुने हुए प्रतिनिधि ने राज किया था।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें