किसी भी युद्ध में भारतीय सेना का पलड़ा रहेगा भारी, हुआ ये बड़ा बदलाव, खर्च होंगे इतने करोड़ रुपए

अधिकारी के मुताबिक, गोला बारूद स्टोर करने का आदेश पहले मिला था लेकिन अब प्राधिकरण अपनी तैयारी 15 दिन के हिसाब से करेगा।

Pakistan

सांकेतिक तस्वीर

चीनी सेना लगातार खुद को मजबूत कर रही है। इसके तहत चीनी सेना ने भारत के खिलाफ कई मिलिट्री कैंप बनाए हैं। अधिकारी ने बताया कि चीनी सेना ने LAC पर 20 से ज्यादा मिलिट्री कैंप बनाए हैं और वह भारत के खिलाफ अपनी सेना को मजबूत बना रहा है।

नई दिल्ली: बॉर्डर पर भारत और चीन के बीच लगातार गतिरोध जारी है। इस बीच भारतीय सुरक्षाबलों (Indian Army) को 15 दिनों के सघन युद्ध के हिसाब से हथियार और गोलाबारूद जमा करने के लिए कहा गया है।

कहा जा रहा है कि इस काम में कुल 50,000 करोड़ रुपये खर्च होंगे। एक सीनियर अधिकारी ने एक न्यूज चैनल (आज तक) से बातचीत के दौरान ये खुलासा किया है।

अधिकारी के मुताबिक, गोला बारूद स्टोर करने का आदेश पहले मिला था लेकिन अब प्राधिकरण अपनी तैयारी 15 दिन के हिसाब से करेगा। गौरतलब है कि पाकिस्तान और चीन, दोनों से ही भारत के संबंधों में मतभेद है। ऐसी स्थितियों को देखते हुए भारत (Indian Army)  ये तैयारी कर रहा है।

अधिकारी ने ये भी बताया कि पहले ये तैयारी 40 दिनों के युद्ध के हिसाब से करने के लिए निर्देश थे, लेकिन अब इसे घटा दिया गया है और 10 दिन कर दिया गया है।

मध्य प्रदेश: लाल आतंक के खिलाफ सुरक्षाबलों की बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ में 28 लाख रुपये की दो इनामी महिला नक्सली ढेर

बता दें कि चीनी सेना लगातार खुद को मजबूत कर रही है। इसके तहत चीनी सेना ने भारत के खिलाफ कई मिलिट्री कैंप बनाए हैं।

अधिकारी ने बताया कि चीनी सेना ने LAC पर 20 से ज्यादा मिलिट्री कैंप बनाए हैं और वह भारत के खिलाफ अपनी सेना को मजबूत बना रहा है।

बता दें कि इस साल मई से ही पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास भारत-तीन गतिरोध बना हुआ है। दोनों देशों ने सीमा पर बड़ी संख्या में सेना तैनात कर रखी है। अब तक कई दौर की वार्ता हो चुकी है, लेकिन को निष्कर्ष नहीं निकला है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें