पाक की नापाक हरकत: पाक सैनिकों ने फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, भारतीय सेना का बहादुर सिपाही शहीद

जम्मू कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह भी कह चुके हैं कि सरहद पार काफी बड़ी संख्या में आतंकी दस्ताने घुसपैठ करने की फिराक में मौजूद हैं। नियंत्रण रेखा पर उनकी संख्या 150-250 और भारत-पाक सीमा पर 125-150 बताई गई है, जोकि विदेशी मूल के हैं।

Indian Army

Martyred Naik Gurcharan Singh

पाकिस्तान (Pakistan) की ओर से नियंत्रण रेखा पर बिना उकसावे की गोलाबारी का सिलसिला लगातार जारी है। पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा के राजौरी जिले के मंजाकोट व तारकुंडी सैक्टरों को निशाना बनाया है। पाकिस्तान की ओर से बरसाए गए गोलों  से एक भारतीय सेना (Indian Army) का जवान नायक गुरचरण सिंह शहीद हो गया जबकि एक स्थानीय नागरिक बुरी तरह जख्मी हुआ है। आज शहीद नायक गुरचरण सिंह (Martyred Naik Gurcharan Singh) का उनके पैतृक गांव हरचोबाल में पूरे सैन्य साजो सामान के साथ अंतिम संस्कार किया जायेगा।

मेट्रो मैन ई. श्रीधरन: जिसने रेंगती दिल्ली को दी रफ्तार, भारतीय रेलवे का किया उद्धार

सूत्रों का कहना है कि भारतीय सेना (Indian Army) ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है। जिससे उसकी कई अग्रिम चौकियां तबाह हुई हैं तथा उसके कई जवान मरे गए हैं। 28 वर्षीय शहीद नायक गुरचरण सिंह पंजाब के जिला गुरदासपुर के गांव हरचोबाल के रहने वाले थे। वे 2009 में भारतीय सेना में शामिल हुए थे। गुरचरण के पिता भी भारतीय सेना में अपनी सेवायें दे चुके हैं। घर पर उनकी बूढ़ी मां और पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है।  उनकी जांबाजी को भारतीय सेना ने नमन किया है।

सेना (Indian Army) के कमांडरों से लेकर जम्मू कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह भी कह चुके हैं कि सरहद पार काफी बड़ी संख्या में आतंकी दस्ताने घुसपैठ करने की फिराक में मौजूद हैं। नियंत्रण रेखा पर उनकी संख्या 150-250 और भारत-पाक सीमा पर 125-150 बताई गई है, जोकि विदेशी मूल के हैं।

वहीं घाटी के भीतर भी मौजूदा वक्त में खासकर दक्षिण कश्मीर व उत्तरी कश्मीर में यह आतंकी दस्ते मौजूद हैं जोकि जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तयवा और हिजबुल मुजाहिद्दीन आदि संगठनों के हैं।