उत्तराखंड: भूस्खलन प्रभावित क्षेत्रों में सेना का रेस्क्यू ऑपरेशन, बड़ी संख्या में ग्रामीणों को निकाला

धारचूला में सैनिकों ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर बड़ी संख्या में ग्रामीणों को निकाला है। स्थानीय लोगों को रसद और चिकित्सा सहायता भी दी गई।

भारतीय सेना के जवानों ने शनिवार को उत्तराखंड के धारचूला क्षेत्र में भारी बारिश के बाद आए भूस्खलन प्रभावित क्षेत्रों में रेस्क्यू ऑपरेशन किया। सेना, आइटीबीपी, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, पुलिस खोज एवं बचाव कार्य में जुटे हैं। इस दौरान सैनिकों ने ग्रामीणों को नदी पार करा कर उनकी जान बचाई। सेना के रेस्क्यू ऑपरेशन पर एडीजी पीआई इंडियन आर्मी ने ट्वीट कर घटना की जानकारी दी है।

एडीजी पीआई ने एक ट्वीट में कहा, ‘सेना ने धारचूला, उत्तराखंड में ग्रामीणों की निकासी के लिए बचाव अभियान चलाया। बड़ी संख्या में ग्रामीणों को निकाला गया। रसद और चिकित्सा सहायता स्थानीय लोगों को दी गई।’

यह भी पढ़ें- LAC पर तैनात रहेंगे सेना के चार डिवीजन, ड्रैगन की चालाकी के मद्देनजर वायुसेना भी अलर्ट

राज्य में भारी बारिश के बाद कई इलाकों में भूस्खलन से सामान्य जीवन अस्त व्यस्त है। भारी बारिश के कारण नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। कुछ दिनों पहले जिला प्रशासन ने रेड अलर्ट भी जारी किया था। स्थानीय लोगों को रसद और चिकित्सा सहायता भी दी गई।

यह भी पढ़ें- शादी की खुशियां बदलीं मातम में, सेहरा बांधने से पहले ही सीमा पर शहीद हो गए रोहिन कुमार

बता दें कि इससे पहले शुक्रवार को धारचूला के विधायक हरीश धामी जिले के दौरे पर गए थे। वह बंगापानी तहसील केमोरी गांव में आपदा पीड़ितों की समस्याएं सुनकर लौट रहे थे। तभी चिमड़ियागाड़ नाले में अचानक पानी का बहाव तेज हो गया और वह असंतुलित होकर नाले में गिर गए। बहाव इतना तेज था कि वह 10 मीटर तक बहते चले गए। इस दौरान साथ आए कार्यकर्ताओं ने उन्हें बचाया। हरीश धामी को काफी चोटें भी आईं।

यह भी पढ़ें