भारत के छोटे भाई ने की बड़ी गुस्ताखी, नेपाल पुलिस की अंधाधुंध फायरिंग में एक भारतीय नागरिक की मौत, कई घायल

नेपाल (Nepal) सीमा पुलिस का दावा है कि उसने भीड़ को तितर–बितर करने के लिए पहले हवा में गोली चलाई‚ लेकिन बाद में हथियार छीने जाने के भय से उन्होंने लोगों पर निशाना साधकर गोली चलाई जो तीन लोगों को लगी।

Nepal

India Nepal Border Tension

भारत के लिए ये मुश्किलों का दौर चल रहा है। एक तरफ हमारे देश में कोरोना की स्थिति बद से बदतर होती जा रही है तो वहीं दूसरी तरफ हमारे सभी पड़ोसी देश हमें उकसाने की बेजोड़  कोशिश कर रहे हैं। पाकिस्तान लगातार सीमापार से सीजफायर का उल्लंघन करता जा रहा है और आतंकियों की खेप भारत में भेजने को आतुर है तो वहीं दूसरी तरफ लद्दाख और सिक्किम में चीन अपने सैन्य बल के साथ हमारी जमीन कब्जाने की नियत से आंखें दिखा रहा है। ऐसे में तीसरे पड़ोसी देश नेपाल (Nepal) ने भी अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है। चीन के चढ़ाने पर कुछ दिन पहले ही नेपाल (Nepal) के प्रधानमंत्री ओली ने अपने देश का नया नक्शा जारी किया जिसमें उन्होंने उत्तराखंड के कई हिस्सों (कालापानी) को अपना अभिन्न अंग बताया। तो वहीं बिहार के सीतामढ़ी जिले से लगी नेपाल (Nepal) की सीमा पर नेपाल (Nepal) सीमा पुलिस के जवानों ने अंधाधुंध फायरिंग करके एक भारतीय नागरिक को मार डाला और कई घायल हो गए।

आज है बॉलीवुड के सबसे सनकी निर्देशक का जन्मदिन, इस दर्जी ने हिंदी सिनेमा इतिहास की सबसे बड़ी और कामयाब फिल्म बनाई

भारतीय अधिकारियों ने बताया‚ 45 वर्षीय भारतीय नागरिक लगन यादव को नेपाल (Nepal) सीमा पुलिस ने हिरासत में भी ले रखा था लेकिन दोनों देशों के अधिकारियों की बातचीत के बाद गिरफ्तार शख्स को नेपाल (Nepal) पुलिस ने आजाद कर दिया।

सशस्त्र सीमा बल (SSB) के महानिदेशक कुमार राजेश चंद्र ने बताया‚ घटना सुबह करीब 8:40 बजे नेपाली सीमा के भीतर हुई। स्थिति अभी सामान्य है। हमारे स्थानीय कमांड़र ने तत्काल नेपाली समकक्ष एपीएफ से संपर्क किया।

एसएसबी के महानिरीक्षक (आईजी) पटना फ्रंटियर संजय कुमार ने बताया‚ घटना स्थानीय लोगों और नेपाल (Nepal) के सशस्त्र पुलिस बल (एपीएफ) के बीच हुई। इस घटना में एक भारतीय नागरिक की मौत हुई है जबकि अन्य दो लोग घायल हुए हैं।

उन्होंने बताया‚ 22 वर्षीय विकेश यादव को पेट में गोली लगी थी जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई जबकि उदय ठाकुर (24) और उमेश राम (18) घायल हुए हैं। उन्हें सीतामढ़ी के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

कुमार ने बताया‚ स्थानीय लोगों से मिली प्राथमिक रिपोर्ट के मुताबिक एपीएफ के जवानों ने लगन यादव की पुत्रवधू की इलाके में उपस्थिति पर तब आपत्ति जताई जब उसे उन्होंने भारत में मौजूद कुछ लोगों से बातचीत करते हुए देखा। लगन यादव की पुत्रवधू नेपाल (Nepal) की है।

अधिकारियों ने बताया‚ स्थानीय लोगों की सीमा के दोनों ओर रिश्तेदारी है और कोई बाड़ नहीं होने की वजह से लोग सीमा के दोनों ओर रिश्तेदारों से मिलने आते–जाते रहते हैं।

उन्होंने बताया‚ एपीएफ कर्मियों ने इस मुलाकात पर आपत्ति जताई जिसके बाद नेपाल (Nepal) पुलिस के कर्मियों और स्थानीय लोगों के बीच बहस हुई और घटनास्थल पर भारत की ओर से 75 से 80 लोग जमा हो गए।

एपीएफ का दावा है कि उसने भीड़ को तितर–बितर करने के लिए पहले हवा में गोली चलाई‚ लेकिन बाद में हथियार छीने जाने के भय से उन्होंने लोगों पर निशाना साधकर गोली चलाई जो तीन लोगों को लगी।

ये घटना सीतामढी जिले के जानकीनगर और नेपाल (Nepal) के सरलाही के बीच हुई। इस पूरे इलाके की सुरक्षा एसएसबी की 51वीं बटालियन के जिम्मे है और यह इलाका खंभा संख्या 319 के अंतर्गत आता है। भारत–नेपाल (Nepal) के बीच 1751 किलोमीटर लंबी सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी एसएसबी की है।

यह भी पढ़ें