India-China Faceoff: गीदड़भभकी देने वाला चीन अब भारत के खिलाफ अपना रहा ‘टू फ्रंट वॉर रणनीति’, जानें क्या है ये

India China Faceoff: चीन अब टू फ्रंट वॉर की रणनीति अपनाने के बारे में विचार कर रहा है। भारत के एक तरफ पाकिस्तान है और दूसरी तरफ चीन।

India China Tension

फाइल फोटो।

चीन  (India China Faceoff) अब टू फ्रंट वॉर की रणनीति अपनाने के बारे में विचार कर रहा है। दरअसल नक्शे को देखने पर पाएंगे कि भारत के एक तरफ पाकिस्तान है और दूसरी तरफ चीन।

भारत और चीन (India China Faceoff) के बीच तनाव जारी है। चीन लगातार नापाक इरादे जाहिर कर रहा है। उसके सैनिक घुसपैठ की साजिश रच रहे हैं। 15 जून को दोनों सेनाओं की बीच खूनी संघर्ष हुआ और इस संघर्ष में चीन को खामियाजा भी भुगतना पड़ा।

चीन इस बात को अच्छी तरह से समझ चुका है कि अगर भारत को आंख दिखाई तो उसे मुंहतोड़ जवाब मिलेगा, इसलिए चीन अब दूसरी रणनीतियों पर विचार कर रहा है।

चीन अब टू फ्रंट वॉर की रणनीति अपनाने के बारे में विचार कर रहा है। दरअसल नक्शे को देखने पर पाएंगे कि भारत के एक तरफ पाकिस्तान है और दूसरी तरफ चीन। दोनों देशों की सीमाएं भारत से सटी हुई हैं और दोनों ही देशों से भारत का सीमा विवाद रहा है।

ऐसे में चीन इस रणनीति के तहत साजिश रच रहा है, जिसमें एक तरफ से भारत को पाकिस्तान घेरे और दूसरी तरफ से चीन। चीन और पाकिस्तान के आपस में कितने मधुर संबंध हैं, ये तो पूरी दुनिया पहले से ही जानती है।

ये भी पढ़ें- सऊदी अरब ने पाकिस्तान को दिया करारा झटका, खैरात में दिये जाने वाले अरबों डॉलर पर लगाया प्रतिबंध

कुछ दिनों पहले एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि पाकिस्तान के स्कर्दू हवाई अड्डे पर चीन का एयर रिफ्यूलिंग एयरक्राफ्ट उतरा था।

बड़ी बात ये है कि चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने भी कहा है कि भारत के खिलाफ चीन और पाकिस्तान मिलकर मोर्चा खोल सकते हैं। हमें इसके लिए तैयार रहना होगा।

इसके अलावा पाकिस्तान, भारत के खिलाफ प्रॉक्सी वॉर की रणनीति अपना रहा है। वह जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की घुसपैठ और भारत के अन्य हिस्सों में आतंकवाद फैलाने की कोशिश कर रहा है।

बता दें कि पाकिस्तान और चीन एक साथ मिलकर कई साजिश रच रहे हैं। पाकिस्तान ने अपने हिस्से का अक्साई चीन, चीन को दे दिया है। काराकोरम दर्रे से होकर पाकिस्तान तक चीन ने अपना विस्तार किया है। अगर भविष्य में युद्ध की स्थिति बनती है, तो पाकिस्तान इस रास्ते के जरिए चीन की मदद कर सकता है।

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें