भारत-चीन विवाद: 16 घंटे चली 10वें दौर की कमांडर स्तर की वार्ता, दोनों तरफ से जवानों को पीछे हटाने पर जोर

India China Dispute: ये बैठक मोल्डो में हुई जो 20-21 फरवरी रात बजे खत्म हुई। सेना के सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में विवादित क्षेत्रों पर चर्चा हुई।

India China Dispute

फाइल फोटो

India China Dispute: ये बैठक मोल्डो में हुई जो 20-21 फरवरी रात बजे खत्म हुई। सेना के सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में विवादित क्षेत्रों पर चर्चा हुई। इन क्षेत्रों में गोगरा हाइट्स, हॉट स्प्रिंग और डेप्सांग जैसे क्षेत्र शामिल हैं।

नई दिल्ली: लद्दाख में भारत और चीन के बीच जारी तनाव (India China Dispute)  कुछ कम होता नजर आ रहा है। दोनों देशों के बीच सीमा विवाद पर 10वें दौर की कमांडर स्तर की वार्ता हुई, जोकि 16 घंटे चली।

ये बैठक मोल्डो में हुई जो 20-21 फरवरी रात बजे खत्म हुई। सेना के सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में विवादित क्षेत्रों पर चर्चा हुई। इन क्षेत्रों में गोगरा हाइट्स, हॉट स्प्रिंग और डेप्सांग जैसे क्षेत्र शामिल हैं। कहा जा रहा है कि दोनों तरफ से विवादित क्षेत्रों में सैनिकों को पीछे हटाने पर जोर दिया जा रहा है।

पाकिस्तानी सेना के 5 जवान मारे गये, पाक-चीन की CPEC परियोजना के विरोध के तहत बलूचिस्तान में आतंकी हमला

इस वार्ता में भारत की तरफ से नेतृत्व लेफ्टिनेंट जनरल पीजेके मेनन ने किया। वह लेह की 14वीं कोर के कमांडर हैं। वहीं चीन की तरफ से मेजर जनरल लिउ लिन ने इस वार्ता का नेतृत्व किया। वह दक्षिणी शिनजियांग सैन्य जिले के कमांडर हैं।

बता दें कि भारत और चीन के बीच बीते 9 महीने से तनाव की स्थिति बनी हुई है। अब तक कई दौर की वार्ता भी हो चुकी है। अब जब दोनों देशों के बीच अपनी-अपनी सेना को पीछे हटाने की बात हुई है, तो उम्मीद जताई जा रही है जल्द इस तनाव की स्थिति में हालात में कुछ सुधार हो सकता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App