चीन के राष्ट्रपति ने सेना को दिये युद्ध की तैयारी के निर्देश और गलवान घाटी को बताया अपना, भारत ने भी तैयार किया युद्ध का ब्लूप्रिंट

इसी बीच चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) ने सबसे खराब स्थिति (India China Border Tension) की कल्पना करते हुए सेना को युद्ध की तैयारियां तेज करने का आदेश दिया और उससे पूरी दृढ़ता से देश की सम्प्रभुता की रक्षा करने को कहा।

India China Border

India China Border Tension

India China Border Tension: लद्दाख में भारत और चीन बॉर्डर पर कुछ ठीक नहीं है। इस बार स्तिथि डोकलाम से भी जायदा बड़ी और खतरनाक नजर आ रही है। चीन ने ना केवल लद्दाख के गलवान घाटी में अपने 100 टेंट खड़े कर दिए हैं बल्कि पूरी घाटी को अपना बताते हुए भारतीय सैनिकों को इलाका खाली करने की चेतावनी भी दे डाली है। साथ ही लड़ाकू विमान, भारी हथियार के साथ पूरे दस हजार की फौज वहां जमा कर दी है  और सड़क मार्ग से लगातार सैनिकों और युद्धक सामग्रियों की खेप अक्साई चीन पहुंच रही है। 

चीन को करारा जवाब देने के लिए भारत ने भी अपनी सेना और हथियारों की संख्या बड़ा दी है। दोनों देशों की सेनाएं आमने सामने खड़ी हैं, कई बार टकराव की स्थिति बन गयी।  इधर दिल्ली में पीएमओ की हाई लेवल मीटिंग में पीएम मोदी ने NSA अजित डोभाल की मौजूदगी में तीनों सेनाध्यक्षों से युद्ध का ब्लूप्रिंट तैयार करने को कहा है साथ ही चीनी सीमा पर चीन के सैनिकों से दोगुना भारतीय सैनिकों (Indian Army) की तैनाती का हुक्म दिया है।

इसी बीच चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) ने सबसे खराब स्थिति (India China Border Tension) की कल्पना करते हुए सेना को युद्ध की तैयारियां तेज करने का आदेश दिया और उससे पूरी दृढ़ता से देश की सम्प्रभुता की रक्षा करने को कहा। साथ ही भारत में रह रहे चीनी नागरिकों को तत्काल प्रभाव से भारत छोड़ने का नोटिस भी जारी कर दिया है।

साम, दाम के बजाय चीन को अब दंड से समझायेगा भारत, पीएम मोदी ने NSA अजीत डोभाल और तीनों सेनाध्यक्षों से की युद्ध की रणनीति पर चर्चा

चीन की सत्तारूढ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) के महासचिव और करीब 20 लाख सैनिकों वाली सेना के प्रमुख 66 वर्षीय शी (Xi Jinping) ने संसद सत्र के दौरान पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) और पीपुल्स आम्री पुलिस फोर्स के प्रतिनिधियों की पूर्ण बैठक में हिस्सा लेते हुए यह टिप्प्णी की।

सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ की खबर के मुताबिक‚ शी (Xi Jinping) ने सेना को आदेश दिया कि वह सबसे खराब स्थिति की कल्पना करे‚ उसके बारे में सोचे और युद्ध के लिए अपनी तैयारियों और प्रशिक्षण को बढ़ाए‚ तमाम जटिल परिस्थितियों से तुरंत और प्रभावी तरीके से निपटे। साथ ही पूरी दृढ़ता के साथ राष्ट्रीय सम्प्रभुता‚ सुरक्षा और विकास संबंधी हितों की रक्षा करें।

उनकी टिप्पणी वास्तविक नियंत्रण रेखा (LaC) पर भारत और चीन के बीच करीब 20 दिन से जारी गतिरोध (India China Border Tension) की पृष्ठभूमि में आयी है। हाल के दिनों में लद्दाख और उत्तरी सिक्किम में भारत और चीन की सेनाओं ने अपनी उपस्थिति काफी हद तक बढ़ाई है।

यह भी पढ़ें