पाकिस्तान में विपक्षी पार्टियों ने कहा, इमरान खान के विदेश दौरों पर लगे रोक

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान जम्मू-कश्मीर का मसला बार-बार अंतर्राष्ट्रीय मंच पर उठाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन हर तरफ से उन्हें निराशा ही हाथ लग रही है और साथ ही शर्मिंदगी भी उठानी पड़ रही है। इमरान खान को ये बात भले ही अबतक समझ न आई हो, लेकिन पाकिस्तान के नेताओं को ये बात समझ आ गई है। यही कारण है कि पाकिस्तान में इमरान खान इस वक्त विपक्षी पार्टी के निशाने पर हैं।
Imran Khan
पाकिस्तान की विपक्षी पार्टी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) का कहना है कि इमरान खान के विदेशी दौरे पाकिस्तान के लिए चिंता का विषय बनते जा रहे हैं। ऐसे में उनके विदेशी दौरों पर रोक लगा देनी चाहिए। क्योंकि वह जब भी देश से बाहर जाते हैं उससे पाकिस्तान को ही घाटा हो रहा है। विपक्षी दल पीपीपी ने खोला मोर्चा पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सेनेटर मुस्तफा नवाज खोखर ने कहा कि इमरान खान दुनिया में पाकिस्तान का पक्ष रखने की बजाय अपने मुल्क के खिलाफ ही बोल रहे हैं, जिसकी वजह से भारतीय मीडिया में पाकिस्तान का मज़ाक उड़ रहा है। आपको बता दें कि पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की पार्टी है, इस वक्त पार्टी के प्रमुख उनके बेटे बिलावल भुट्टो जरदारी हैं।
दरअसल, पाकिस्तान में इमरान खान के विरोध का कारण भी जायज है। क्योंकि पिछले कुछ दिनों से पाकिस्तान को वैश्विक मंचों पर मात ही हाथ आ रही है। फिर चाहे वह जम्मू-कश्मीर का मुद्दा हो या फिर आतंकवाद का। अभी हाल ही में न्यूयॉर्क में इमरान खान ने स्वयं इस बात को स्वीकार किया था कि अमेरिका के कहने पर पाकिस्तानी सेना और आईएसआई ने अलकायदा के आतंकवादियों को ट्रेनिंग दी थी। लेकिन जब काम खत्म हुआ तो अमेरिका वहां से चला गया। जिसके बाद पाकिस्तान को काफी कुछ भुगतना पड़ा। इसके अलावा इमरान खान ने कहा था कि 9/11 के बाद अमेरिका पर भरोसा करना पाकिस्तान की सबसे बड़ी भूल थी। इन मसलों के अलावा जम्मू-कश्मीर पर भी इमरान ने स्वीकार किया कि दुनिया के देश भारत के साथ हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here