शिवरात्रि के दौरान आतंकी हमले की फिराक में जैश और हिजबुल के आतंकी

isi

पाकिस्तान परस्त आतंकी संगठन शिवरात्रि के जश्न को भंग करने की फिराक में हैं। आतकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन और जैश–ए–मोहम्मद के आतंकी आईएसआई (ISI) के दिशानिर्देश पर कुछ राज्यों में आतंकी हमला और साम्प्रदायिक तनाव पैदा कर सकते हैं।

isi

खुफिया विभाग ने राज्यों को‚ विशेषकर गुजरात‚ राजस्थान‚ हरियाणा‚ उत्तर प्रदेश‚ दिल्ली और महाराष्ट्र को विशेष चौकसी बरतने और आपात स्थिति से निपटने के लिए उचित व्यवस्था करने को कहा है। सूत्रों के अनुसार खुफिया विभाग और सुरक्षा बलों की चौकसी के कारण आतंकियों का लगातार सफाया हो रहा है। इसके साथ ही भारत प्रेरित अंतरराष्ट्रीय दवाब के कारण लश्कर सरगना हाफिज को जेल जाना पड़़ा। इस कारण पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) बौखला गई है। लिहाजा‚ आईएसआई (ISI) भारत पर आतंकी हमले की नई साजिश रच रही है। लेकिन वह सफल नहीं हो पा रही है।

वैसे नागरिकता संशोधन कानून‚ एनआरसी जैसे मुद्दों पर अपने स्लीपर सेल के जरिये हवा देने में कुछ सफल हो रही है। अब उसने शिवरात्रि के दौरान आतंकी हमला करने की साजिश रची है। खुफिया सूत्रों के अनुसार आईएसआई (ISI) के इशारे पर जैश और हिजबुल के आतंकी न सिर्फ आतंकी घटना कर दहशत फैला सकते हैं‚ बल्कि साम्प्रदायिकता भी फैला सकते हैं।

छत्तीसगढ़: बीजापुर से 7 नक्सली गिरफ्तार, बड़ी वारदातों को दे चुके हैं अंजाम

खुफिया सूत्रों के अनुसार गुजरात‚ पंजाब और राजस्थान के रास्ते आतंकी भारत में घुस गए हैं। सूत्रों के अनुसार आईएसआई (ISI) ने जैश और हिजबुल को कहा है कि वह भारत में अपने एरिया कमांड़र को सक्रिय कर दे। सूत्रों के अनुसार फोन से बातचीत में जो इंटरसेप्ट हुआ है‚ उसमें जैश के करीम जावेद और हिजबुल के अमातुल्ला हुसैन को इस काम का जिम्मा सौंपा गया है। सूत्रों के अनुसार गुजरात‚ जम्मू‚ राजस्थान के जयपुर‚ जोधपुर‚ बीकानेर‚ हरियाणा के यमुना नगर के अलावा लुधियाना‚ मोहाली जैसे कुछ शहर‚ उत्तर प्रदेश के वाराणसी‚ लखनऊ ‚ गोरखपुर और मथुरा तो आतंकियों के टरगेट पर हैं ही‚ इसके साथ–साथ दिल्ली और महाराष्ट्र भी उनके टारगेट पर हैं।

<

p style=”text-align: justify;”>खुफिया विभाग ने इस बाबत राज्यों को अलर्ट रहने को कहा है। खुफिया विभाग ने कहा है कि इस दौरान बाजार‚ मंदिर और परिवहन स्थल पर विशेष चौकसी रखें। खुफिया विभाग ने राज्य की सुरक्षा एजेंसी को कहा है कि फूल–माला के दुकानों पर पैनी नजर रखें। आतंकी श्रद्धालु के वेश में घुस सकते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App