BJP हाईकमान का फैसला, हरियाणा में खट्टर और महाराष्ट्र में देवेंद्र होंगे CM

Maharashtra
  • महाराष्ट्र (Maharashtra) में NDA को बहुमत, हरियाणा में JJP किंगमेकर

  • चुनाव में पक्ष-विपक्ष के कई कद्दावर नेता हारे

  • हरियाणा (Haryana) में सत्ता की चाबी निर्दलीयों के हाथ

  • शिवसेना की सत्ता में 50-50 भागीदारी की मांग
    Maharastra

दो राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में से महाराष्ट्र (Maharashtra) में बीजेपी और शिवसेना के एनडीए गठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिल गया है। वहीं हरियाणा (Haryana) में नतीजों ने त्रिशंकू विधानसभा की स्थिति बना दी है। हरियाणा (Haryana) में बीजेपी 40 और कांग्रेस 31 सीटों पर जीती हैं। यहां दुष्यंत चौटाला की बच्चा पार्टी कही जाने वाली जेजेपी ने सबको चौंका दिया है। उसने 10 सीटें जीती हैं। जबकि सात निर्दलीय जीते हैं। एक इनेलों, एक हरियाणा लोक हित पार्टी और एक अन्य ने जीती है, जबकि सात सीटों पर निर्दलीय या यूं कहें बीजेपी-कांग्रेस के बागी जीते हैं।

इतिहास में आज का दिन – 25 अक्टूबर

महाराष्ट्र (Maharashtra) में एनडीए गठबंधन को 288 सीटों में से 161 सीटें मिली हैं। जबकि कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन ने भी 98 सीटों का आंकड़ा छू लिया है। वहीं 29 सीटें अन्य छोटी पार्टियों या निर्दलीयों के खाते में गई हैं। यहां बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, कांग्रेस को 44 और एनसीपी को 54 सीटें मिली हैं। हालांकि यहां बीजेपी को पिछले विधानसभा चुनावों के मुकाबले 17 सीटें कम मिली हैं, जबकि कांग्रेस, एनसीपी की सीटों में इजाफा हुआ है।

Maharastra

शिवसेना की सौदेबाजी के बावजूद देवेंद्र फड़णवीस महाराष्ट्र (Maharashtra) और हरियाणा (Haryana) में बहुमत पाने से दूर रह गए मनोहरलाल खट्टर ही मुख्यमंत्री पद के दावेदार होंगे। शिवसेना को उपमुख्यमंत्री पद दिया जाएगा। हरियाणा में बीजेपी बड़े दल के रूप में उभरने के बावजूद अपना पिछला प्रदर्शन नहीं दोहरा पाई है। पिछले विधानसभा चुनाव में उसे 47 सीट मिली थी और पिछले लोकसभा चुनाव में सभी दस सीटें जीतकर पार्टी का परचम लहराया था। इस बार उसे केवल 40 सीटों पर संतोष करना पड़ा है। बीजेपी मुख्यालय में पार्टी की संसदीय बोर्ड की बैठक हुई। बैठक में तय किया गया कि हरियाणा में बहुमत न मिलने के बाद भी सरकार बनाई जाएगी। सूत्रों का कहना है कि पार्टी ने चुनाव जीते तीन बागी विधायकों और जननायक जनता पार्टी (जजपा) के अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला से संपर्क साधा है। सबसे बड़े दल के रूप में उभरने पर पार्टी को सरकार बनाने का न्यौता मिलेगा और बीजेपी सरकार बनाने पर विश्वास हासिल करेगी। बोर्ड ने दोनों राज्यों में सरकार गठन के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को अधिकृत कर दिया है। बृहस्पतिवार देर शाम एक विशेष हैलीकॉप्टर से सिरसा से हरियाणा लोकहित पार्टी के विधायक गोपाल कांडा और रानिया से निर्दलीय विधायक रणजीत सिंह को बीजेपी सांसद सुनीता दुग्गल अपने साथ लेकर दिल्ली रवाना हुईं। वे प्रकाश सिंह बादल के संपर्क में थे।

यह भी पढ़ें