गढ़चिरौली: सी-60 कमांडो ने एक नक्सली को उतारा मौत के घाट, नक्सल कैंप भी ध्वस्त

सी-60 कमांडो का एक दस्ता गट्टा क्षेत्र के एलदड़मी जंगल परिसर में गश्त पर निकला था। जंगल में पहले से घात लगाए नक्सलियों ने जवानों पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में एक वर्दीधारी नक्सली मारा गया।

Gadchiroli, c-60 commandos

गढ़चिरौली में नक्सलियों के मुहिम जारी। सांकेतिक तस्वीर।

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक नक्सली को मार गिराया। मुठभेड़ गढ़चिरौली के गट्टा इलाके में हुई। पुलिस अधिकारियों ने इसकी पुष्टि कर दी है। हालांकि, मारे गए नक्सली की अब तक पहचान नहीं हो सकी है।

दरअसल, सी-60 कमांडो का एक दस्ता गट्टा क्षेत्र के एलदड़मी जंगल परिसर में गश्त पर निकला था। जंगल में पहले से घात लगाए नक्सलियों ने जवानों पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में एक वर्दीधारी नक्सली मारा गया। वहीं, सुरक्षाबलों को हावी होता देख बाकी नक्सली घने जंगल का फायदा उठा कर भाग निकले। पुलिस ने मौके से बड़ी मात्रा में नक्सल साहित्य व दैनिक इस्तेमाल का सामना बरामद किया है। वहीं, सुरक्षाबलों ने नक्सल कैंप को भी ध्वस्त कर दिया।

गढ़चिरौली के पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवड़े ने बताया कि शुक्रवार की शाम करीब 5.30 बजे गट्‌टा इलाके के जंगल में सी-60 टीम सर्चिंग कर रही थी, तभी नक्सलियों ने जवानों पर गोलियां बरसानी शुरू कर दी। करीब 20 मिनट तक दोनों तरफ से गोलीबारी चलती रही। इसके बाद, नक्सली घने जंगल का फायदा उठाकर भाग निकले। फायरिंग बंद होने के बाद, जब पुलिस ने आसपास के एरिया में मुआयना किया तो एक नक्सली की लाश मिली।

बताया जा रहा है कि गढ़चिरौली इलाके में इन दिनों नक्सली दलम की बैठक लगातार चल रही है। यही वजह है कि सुरक्षाबल के जवान मुस्तैद हैं और लगातार सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं। एक जुलाई को छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव ने सुरक्षाबलों की जिन नक्सलियों की मुठभेड़ हुई वे भी गढ़चिरौली से ही बैठक में शामिल होकर लौट रहे थे। 

29 लाख का इनामी नक्सली डेविड गिरफ्तार, एएसआई की हत्या में था शामिल

यह भी पढ़ें