BHU से फिजिक्स ऑनर्स में डिग्री ली, लेकिन बहन की हत्या ने बना दिया नक्सली, अब मांग रहा सीएम से मदद

कोयल शंख जोन का पूर्व जोनल कमांडर कृष्ण मोहन झा (Krishna Mohan Jha) उर्फ अभय जी उर्फ विकास जी बीते 5 सालों से बिरसा मुंडा केंद्रीय कारावास, होटवार में बंद है।

Terrorists

सांकेतिक तस्वीर।

ये नक्सली (Krishna Mohan Jha) पढा-लिखा भी है और इसने साल 2002 में बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) से फिजिक्स में ऑनर्स किया था। लेकिन पारिवारिक विवाद के बाद वह नक्सली नेताओं के संपर्क में आया और फिर उसने बंदूक थाम ली।

रांची: बीएचयू (बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी) से पढ़ाई करने वाला एक नक्सली जिसने सिस्टम के खिलाफ बंदूक उठाई थी, अब झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन से मदद की गुहार लगा रहा है।

दरअसल कोयल शंख जोन का पूर्व जोनल कमांडर कृष्ण मोहन झा (Krishna Mohan Jha) उर्फ अभय जी उर्फ विकास जी बीते 5 सालों से बिरसा मुंडा केंद्रीय कारावास, होटवार में बंद है। बीते 22 दिनों से उसकी तबीयत खराब है और उसका रिम्स में इलाज किया जा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक, वह लीवर में संक्रमण से पीड़ित है, इसलिए उसने लोगों से आर्थिक मदद मांगी है और मुख्यमंत्री, मुख्य न्यायाधीश को लिखित आवेदन कर जान बचाने की गुहार लगाई है। उसकी हालत को देखते हुए उसे शनिवार को एम्स में रेफर किया गया है। कुछ दिनों में उसे रिम्स से एम्स ले जाया जाएगा।

एयर ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ ने किया कोयंबटूर का पहला दौरा, भारतीय वायु सेना के प्रशासनिक कॉलेज का लिया जायजा

बता दें कि ये नक्सली (Krishna Mohan Jha) पढा-लिखा भी है और इसने साल 2002 में बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) से फिजिक्स में ऑनर्स किया था। लेकिन पारिवारिक विवाद के बाद वह नक्सली नेताओं के संपर्क में आया और फिर उसने बंदूक थाम ली।

जब ये पढ़ता था तो लोग इसे विकास के नाम से जानते थे। विकास मूल रूप से मुजफ्फरपुर का रहने वाला था। उसके चाचा संजय झा नक्सली थे और उन्होंने विकास की बहन की संपत्ति की वजह से हत्या कर दी थी। इसके बाद विकास बीएचयू में पोलित ब्यूरो सदस्य उमेश मेहता के संपर्क में आया और नक्सली बन गया। इसके बाद विकास ने अपने दोनों चाचाओं की हत्या कर दी। साल 2016 में वह पुलिस की गिरफ्त में आ गया था।

विकास का नाम नक्सली दुनिया में काफी चर्चा में रहता है। साल 2009 में उसने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम को धमकी दी थी कि अगर वे लोग झारखंड आए तो उन्हें उड़ा देंगे। वह कई नक्सली वारदातों को अंजाम दे चुका है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें