इस वित्त मंत्री ने बनाया रिकॉर्ड, संसद में 10 बार पेश किया बजट

एक फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट (Budget) पेश करेंगी। बजट पेश करने वाले वित्त मंत्री पर पूरे देश की निगाहें होती हैं। वित्त मंत्री बजट में कई नए बदलाव भी लेकर आते हैं। कई बार ऐसे बदलाव भी होते हैं जो पहले कभी नहीं हुए, तो कई बार रिकॉर्ड भी बनते हैं। ऐसा ही एक रिकॉर्ड बतौर वित्त मंत्री बनाया था मोरारजी देसाई ने।

Budget
बजट का रिकॉर्ड।

Budget 2020: देश में अब तक सबसे ज्यादा बार आम बजट पेश करने का रिकॉर्ड मोरारजी देसाई के नाम है। भारत का चौथा प्रधानमंत्री बनने से पहले बतौर वित्त मंत्री उन्होंने 10 बार बजट पेश किया था। उनके बाद सबसे अधिक बार बजट पेश करने वाले वित्तमंत्री पी. चिदम्बरम हैं। चिदम्बरम ने कुल आठ बार संसद में बजट पेश किया है।

कोई नहीं तोड़ सका मोरारजी देसाई का रिकॉर्ड

मोरारजी देसाई पहली बार 13 मार्च, 1958 से 29 अगस्त, 1963 तक देश के वित्तमंत्री रहे थे। उसके बाद मार्च, 1967 से जुलाई 1969 तक फिर उन्होंने वित्तमंत्री की जिम्मेदारी संभाली। इस दौरान उन्होंने केंद्र सकार के 10 बार संसद में बजट (Budget) पेश किया, जिनमें से आठ पूर्ण बजट, जबकि दो अंतरिम बजट थे। साल 1964 और 1968 में ऐसे भी मौके आए, जब मोरारजी देसाई ने अपने जन्मदिन पर संसद में आम बजट (Budget) पेश किया था। इसके बाद देश में पहली बार 1977 में बनी गैर-कांग्रेसी सरकार में मोरारजी देसाई प्रधानमंत्री बने थे। वह 24 मार्च, 1977 से 28 जुलाई, 1979 तक देश के प्रधानमंत्री रहे।

चार बार वित्त मंत्री रह चुके चिदम्बरम ने आठ बार पेश किया बजट

चार बार वित्त मंत्री रह चुके पी. चिदम्बरम ने कुल आठ बजट (Budget) संसद में पेश किए हैं। चिदम्बरम पहली बार एच. डी. देवेगौड़ा की अगुवाई में बनी संयुक्त मोर्चा सरकार में एक जून, 1996 को वित्तमंत्री बने थे। वह 21 अप्रैल, 1997 तक वित्तमंत्री रहे। इसके बाद 1 मई, 1997 से लेकर 19 मार्च, 1998 तक वह तत्कालीन प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल की सरकार में वित्तमंत्री रहे। इसके बाद डॉ. मनमोहन सिंह के नेतृत्व में बनी संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन यानी संप्रग-1 की सरकार में चिदम्बरम 22 मई, 2004 से लेकर 30 नवंबर, 2008 तक वित्तमंत्री रहे. चिदम्बरम चौथी बार मनमोहन सिंह की अगुवाई में संप्रग-2 की सरकार में 31 जुलाई, 2012 से लेकर 26 मई, 2014 तक वित्तमंत्री रहे।

पढ़ें: नक्सलियों ने पहले वोट दिया, फिर कर दिया सरेंडर…जानें क्या है पूरा मामला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here