अमेरिका से लौटते ही इमरान खान ने फिर अलापा कश्मीर का राग

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने 29 सितंबर को अमेरिका से लौटने के बाद एक बार फिर कश्मीर का राग अलापा है। इमरान खान ने कहा कि जो लोग कश्मीरियों के साथ खड़े हैं वे ‘जिहाद’ कर रहे हैं और पाकिस्तान कश्मीरियों का साथ देगा, भले ही दुनिया ऐसा न करे।

Imran Khan
Imran Khan

संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने पहले संबोधन में कश्मीर मुद्दे पर जोर देने वाले Imran Khan ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से कहा कि ‘चाहे दुनिया कश्मीरियों के साथ हो या न हो, हम उनके साथ खड़े हैं।’ पाक पीएम ने कहा, ‘कश्मीरियों के साथ खड़ा रहना जिहाद है। हम ऐसा इसलिए कर रहे हैं क्योंकि हम चाहते हैं कि अल्लाह हमसे खुश हो।’

उन्होंने कहा, ‘यह संघर्ष है और जब समय अच्छा न हो तो हिम्मत न हारें। निराश न हों क्योंकि कश्मीरी आपकी ओर देख रहे हैं।’ खान ने कहा, ‘अगर पाकिस्तानी लोग कश्मीरियों के साथ खड़े रहे तो वे जीतेंगे।’ खान ने शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने संबोधन में कश्मीर मुद्दा उठाया था और मांग की थी कि भारत कश्मीर से ‘अमानवीय कर्फ्यू’ हटाए तथा सभी ‘राजनीतिक कैदियों’ को रिहा करे।

गौरतलब है कि जब UNGA में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान जब बोलने आए तो उन्होंने समय और शब्दों की मर्यादाएं लांघते हुए भारत के खिलाफ अपने अजेंडे को प्राथमिकता में रखा। दुनिया के मुसलमानों को भारत के खिलाफ उकसाने की कोशिश की। इमरान तय समय से कहीं ज्यादा देर तक भारत के खिलाफ नफरत उगलते रहे। उनका युद्ध राग पीएम मोदी के उसी मंच से कुछ समय पहले दिए गए शांति संदेश से ठीक उलट था।

पढ़ें: पंजाब सीमा पर फिर देखे गए पाकिस्तानी ड्रोन, BSF और स्थानीय पुलिस अलर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here