बॉर्डर पर चीन की हर चाल को नाकाम कर देगा भारत, मोर्चे पर तैनात किया ये टैंक

2 अगस्त को भारत और चीन (India-China) के बीच कोर कमांडर स्तर की वार्ता हुई थी।

India China Border Tension

LAC पर जारी है तनाव

भारत और चीन (India-China) के बीच सीमा विवाद अब तक नहीं सुलझ पाया है। चीन अपने सैनिकों को पीछे हटाने की बात पर राजी होकर भी मुकर जा रहा है। दौलत बेग ओल्डी और देपसांग में चीन ने 17 हज़ार सैनिकों और सशस्त्र वाहनों को तैनात किया है।

चीन का सामना करने और जरूरत पड़ने पर मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारत ने भी पूरी तैयारी कर ली है। भारत ने अपने टी-90 टैंक और भारी संख्या में सैनिकों को दौलत बेग ओल्डी और देपसांग मैदान में तैनात किया है।

चीन का मकसद दौलत बेग ओल्डी सेक्टर के ठीक दूसरी ओर टीडब्ल्यूडी बटालियन हेडक्वार्टर से कराकोरम दर्रे के इलाके तक एक सड़क का निर्माण करना है। इससे पहले भी चीन ने ऐसी कोशिश की थी जिसे भारतीय सैनिकों ने कामयाब नहीं होने दिया था। 

चीन के सैनिकों की सक्रियता को देखते हुए भारत सतर्क है। भारत कराकोरम दर्रे (पीपी-3) के निकट पेट्रोलिंग प्वाइंट 1 से देपसांग मैदान तक अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती कर रहा है। बख्तरबंद गाड़ियों और सेना की एक ब्रिगैड को दौलत बेग ओल्डी में तैनात किया गया है।

ये भी पढ़ें- राम मंदिर निर्माण के लिए 28 साल से उपवास कर रही है ये बुजुर्ग महिला, अयोध्या जाकर तोड़ेंगी व्रत

2 अगस्त को भारत और चीन (India-China) की कोर कमांडर स्तर की वार्ता हुई थी। मोल्डो में हुई इस वार्ता में चीन गलवान, पीपी-15, हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और पूरे फिंगर इलाके से अपने सैनिकों को पीछे हटाने के लिए राजी हुआ था। लेकिन बाद में उसने असहमति जताई और पीछे हटने से मना कर दिया। भारत ने अपनी बात साफ तौर पर रखते हुए कहा कि सामान्य स्थिति तभी आएगी जब चीन अप्रैल-मई के पहले की स्थिति को बहाल करे।

यह भी पढ़ें – जम्मू कश्मीर में 2 बड़े आतंकी हमले, एक सरपंच की हत्या , 2 जवान घायल

चीन दौलत बेग ओल्डी सेक्टर के ठीक दूसरी ओर टीडब्ल्यूडी बटालियन हेडक्वार्टर से कराकोरम दर्रे के इलाके तक सड़क निर्माण करवाना चाहता है। इससे चीनी सेना के आवागमन का समय घट सकेगा। अभी चीनी सैनिकों को हाईवे जी219 के जरिये मोर्चे तक पहुंचने में 15 घंटे लगते हैं। चीन ने पहले भी पीपी-7 और पीपी-8 के पास एक नाले पर पुल बनाने की कोशिश की थी। जिसे भारतीय सैनिकों ने गिरा दिया था। चीन पर भरोसा ना करते हुए भारत देपसांग और दौलत बेग ओल्डी में किसी भी परिस्थिति का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें