ईडी की बड़ी कार्रवाई, दो शीर्ष नक्सली नेताओं की संपत्ति जब्त

प्रवर्तन निदेशालय (ED) की पटना इकाई ने प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के दो शीर्ष नक्सली नेताओं की करीब 26 लाख रुपये की चल एवं अचल संपत्ति जब्त की है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) की पटना इकाई से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, ईडी (ED) की एक टीम ने 20 फरवरी की सुबह भाकपा माओवादी के सब-जोनल कमांडर अभिजीत यादव उर्फ महावीर यादव की 16.49 लाख रुपये की चल एवं अचल संपत्ति जब्त की।

ED

प्रवर्तन निदेशालय (ED) की पटना इकाई ने प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के दो शीर्ष नक्सली नेताओं की करीब 26 लाख रुपये की चल एवं अचल संपत्ति जब्त की है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) की पटना इकाई से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, ईडी (ED) की एक टीम ने 20 फरवरी की सुबह भाकपा माओवादी के सब-जोनल कमांडर अभिजीत यादव उर्फ महावीर यादव की 16.49 लाख रुपये की चल एवं अचल संपत्ति जब्त की।

अभिजीत की जब्त संपत्ति में उसकी पत्नी गीता देवी के नाम पर झारखंड के पलामू जिले में अधिग्रहित 16,04,745 रुपये कीमत के छह भूखंड तथा गीता के बैंक खाता में उपलब्ध 44,867 रुपये शामिल हैं। प्रवर्तन निदेशालय ने फरार अभिजीत के खिलाफ यह कार्रवाई पीएमएलए के तहत की है। उसके खिलाफ 55 आपराधिक मामले दर्ज हैं। पटना ईडी (ED) की एक अन्य टीम ने 19 फरवरी की शाम बिहार से झारखंड तक सक्रिय हार्डकोर भाकपा माओवादी के सक्रिय सदस्य पिंटू राणा उर्फ राजेश राणा उर्फ राजेश मिस्त्री और उसके परिवार के सदस्यों के नाम अधिग्रहित की 9.67 लाख रुपये से अधिक की चल संपत्ति जब्त की।

<

p style=”text-align: justify;”>ईडी (ED) की पटना इकाई ने साल 2018 और 2019 के दौरान शीर्ष नक्सली नेता संदीप यादव, प्रदुमन शर्मा, मुसाफिर सहनी, विनय यादव और विनोद कुमार गंजू की करीब 5.74 करोड़ रुपये की चल एवं अचल संपत्ति जब्त की है। दरअसल ईओयू ने साल 2018 में गोरा और 2019 में पिंटू राणा की अवैध संपत्ति के बारे में प्रस्ताव ईडी (ED) को भेजा था। जांच में पता चला कि नक्सलियों ने लेवी व अन्य तरीकों से अवैध संपत्ति हासिल कर रखी है। आखिरकार ईडी ने सबूतों के आधार पर पीएमएलए (प्रिवेंशन ऑफ मनी लाउंड्रिंग एक्ट) के तहत अवैध संपत्ति को जब्त कर लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here