Jammu Kashmir: जम्मू में अरनिया सेक्टर के पास फिर दिखा ड्रोन, BSF के जवानों ने खदेड़ा

जम्मू (Jammu) में अरनिया सेक्टर के पास एक बार फिर ड्रोन (Drone) देखा गया है। यह इलाका अंतर्राष्ट्रीय सीमा (International Border) के पास मौजूद है।

Drone

सांकेतिक तस्वीर

बीते एक सप्ताह के दौरान सिर्फ जम्मू के इलाके में 9वीं बार संदिग्ध ड्रोन (Drone) दिखने की घटना हुई है। ड्रोन पाकिस्तान के इलाके में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर लगे बाड़ के पास देखा गया।

जम्मू कश्मीर: जम्मू में अरनिया सेक्टर के पास एक बार फिर ड्रोन (Drone) देखा गया है। यह इलाका अंतर्राष्ट्रीय सीमा (International Border) के पास मौजूद है। हालांकि, जवानों द्वारा किए गए फायरिंग के बाद ड्रोन गायब हो गया। जानकारी के मुताबिक,  2 जुलाई को सुबह 5 बजकर 20 मिनट पर ड्रोन (Drone) देखा गया। हालांकि, यह भारतीय सीमा के पार नहीं आया था। 

बताया जा रहा है कि ड्रोन पाकिस्तान के इलाके में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर लगे बाड़ के पास देखा गया। आपको बता दें कि बीते एक सप्ताह के दौरान सिर्फ जम्मू के इलाके में 9वीं बार संदिग्ध ड्रोन (Drone) दिखने की घटना हुई है।

घटना की जानकारी देते हुए जम्मू में बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) के प्रवक्ता ने बताया कि आज सुबह जम्मू के अरनिया सेक्टर के पास एक ड्रोन भारतीय सीमा को पार करने की कोशिश कर रहा था। उसी वक्त जवानों ने पाकिस्तान के इस छोटे हेक्साकॉप्टर पर फायरिंग की, जिसके बाद वह अचानक गायब हो गया। उन्होंने कहा कि हमारे जवान पूरी तरह अलर्ट हैं और किसी भी चुनौती के लिए तैयार हैं।

Jammu and Kashmir: ड्रोन के जरिए आतंक फैलाने की रची जा रही साजिश, जानें हमले की पूरी इनसाइड स्टोरी

जम्मू में ड्रोन (Drone) दिखने की इन घटनाओं के बाद सुरक्षा एजेंसियां मुस्तैदी से काम कर रही हैं। डीआरडीओ (DRDO) भी एंटी ड्रोन सिस्टम पर काम कर रही है और वो इस घटना की पड़ताल करने में लगी है।

डीआडीओ ने अपनी एंटी ड्रोन सिस्टम के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह छोटे ड्रोन का पता लगा कर उसे जाम करने में सक्षम है। इसके अलावा यह एक से दो किलोमीटर के सीमा में उड़ रहे ड्रोन को अपनी लेजर बीम से डिटेक्ट करके उसे जमीन पर गिरा सकता है। कहा जा रहा है कि आनेवाले 6 महीनों में सेना इसका प्रयोग कर सकती है।

आपको बता दें कि बीते 27 जून को जम्मू के एयरफोर्स स्टेशन (Airforce Station) पर ड्रोन से लगातार दो धमाके हुए थे। घटना की जांच एनआईए कर रही है और इस कड़ी में एनआईए (NIA) ने लश्कर-ए-तैयबा के नए संगठन टीआरएफ के आतंकी नदीम-उल-हक को हिरासत में लिया है। जानकारी के मुताबिक, एनआईए (NIA) नदीम से जल्द ही घटना के बारे में पूछताछ कर सकती है। 

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें