रक्षा क्षेत्र में अमेरिका से 3 अरब डॉलर का समझौता, जल्द भारत आयेंगे अपाचे और रोमियो

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कहा कि भारत और अमेरिका ने अपने रक्षा सहयोग को आगे बढ़ाते हुए तीन अरब डॉलर के रक्षा समझौते को अंतिम रूप दिया है जिसके तहत भारत (India) दुनिया में श्रेष्ठ माने जाने वाले अपाचे और एमएच 60 रोमियो हेलीकाप्टर सहित अत्याधुनिक सैन्य उपकरणों की खरीद करेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के साथ सामरिक मुद्दों‚ कारोबार‚ आतंकवाद (Terrorism) से मुकाबला‚ ऊर्जा सहित विभिन्न विषयों पर व्यापक चर्चा के बाद ट्रंप ने संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि दोनों देश अपने नागरिकों को कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से सुरक्षा प्रदान करने को प्रतिबद्ध हैं।

Donald Trump
भारत दुनिया में श्रेष्ठ माने जाने वाले अपाचे और एमएच 60 रोमियो हेलीकाप्टर सहित अत्याधुनिक सैन्य उपकरणों की खरीद करेगा।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा‚ इस प्रयास में अमेरिका पाकिस्तान (Pakistan) के साथ उसकी धरती से परिचालित होने वाले आतंकवादियों से मुकाबला करने में सार्थक रूप से काम कर रहा है।

पढ़ें: आतंकवाद समर्थकों की जवाबदेही तय करेंगे ट्रंप-मोदी

ट्रंप (Donald Trump) ने कहा कि हमने अपने रक्षा सहयोग को विस्तार दिया है और इस दिशा में तीन अरब डॉलर के रक्षा सौदे को अंतिम रूप दिया है। इसके तहत भारत (India) दुनिया में श्रेष्ठ माने जाने वाले अपाचे और एमएच 60 रोमियो हेलीकाप्टर सहित अत्याधुनिक सैन्य उपकरणों की खरीद करेगा।

उन्होंने कहा‚ ये समझौते हमारी संयुक्त रक्षा क्षमताओं को बेहतर बनाएंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी (Narendra Modi) के साथ हमारी चर्चा में मुख्य जोर द्विपक्षीय आर्थिक संबंधों पर रहा जो साफ–सुथरा और दोतरफा हो।

ट्रंप (Donald Trump) ने कहा‚ हमारे दलों ने समग्र कारोबार समझौते को लेकर काफी प्रगति की है। मैं आशान्वित हूं कि हम समझौता कर पाएंगे जो दोनों देशों के लिए काफी महत्व का होगा। राष्ट्रपति का पद संभालने के बाद भारत को अमेरिकी निर्यात करीब 60 फीसदी बढ़ा है और उच्च गुणवत्ता के अमेरिकी ऊर्जा उत्पाद का निर्यात 500 फीसदी बढ़ा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप (Donald Trump) के बीच द्विपक्षीय संबंधों सहित विविध विषयों पर व्यापक वार्ता के बाद दोनों देशों ने तीन समझौता पत्रों पर हस्ताक्षर किए जिसमें से एक समझौता ऊर्जा क्षेत्र से संबंधित है।

विदेश मंत्रालय की विज्ञप्ति के अनुसार दोनों देशों ने मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इसके अलावा चिकित्सा उत्पादों की सुरक्षा के विषय पर भी सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये गए। इसमें भारत की ओर से सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन तथा अमेरिका का फूड एंड ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन शीर्ष संस्था है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here