भारत पहुंचे डोनाल्ड ट्रंप, 25 हजार करोड़ के डिफेंस डील पर है सबकी नजर

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) 24 फरवरी को भारत पहुंचे। डोनाल्ड ट्रंप का यह पहला आधिकारिक भारत दौरा है। ट्रंप के इस दौरे से काफी उम्मीदें हैं। भारत और अमेरिका इस दौरे पर कई बड़े समझौते कर सकते हैं, जिनमें डिफेंस डील (Defense Deal), ट्रेड डील पर चर्चा हो सकती है।

Defense Deal
ट्रंप के इस दौरे के दौरान सभी की नजर डिफेंस डील पर है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) और पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के बीच इस दौरे पर कई अहम मुद्दों पर बात होगी। इस दौरान द्विपक्षीय मुद्दों के साथ-साथ क्षेत्रीय मसलों पर भी चर्चा होगी। साथ ही ट्रेड, इन्वेस्टमेंट, डिफेंस (Defense Deal), सुरक्षा, आतंकवाद, एनर्जी सुरक्षा, धार्मिक सुरक्षा, अफगानिस्तान के मसले पर दोनों नेता बात करेंगे। इंटलैक्चुएल प्रॉपर्टी राइट्स, ट्रेड फैसिलेशन, होमलैंड सिक्युरिटी समेत कुल पांच मसलों पर दोनों नेता बात करेंगे, जिसमें भारत-अमेरिका समझौता फाइनल कर सकते हैं।

सबसे खास, इस दौरे पर सभी की नजर डिफेंस डील (Defense Deal) पर है, जिसमें भारत 24 MH-60 रोमियो हेलिकॉप्टर खरीदने पर विचार कर रहा है। इस डील की कुल कीमत 2.6 बिलियन अमेरिकी डॉलर है। इसके अलावा भारत अमेरिका से 800 मिलियन डॉलर के 6 AH-64E अपाचे हेलिकॉप्टर ले सकता है। सूत्रों के अनुसार, शिखर बैठक में दोनों देशों के बीच पांच समझौते किये जाने की तैयारी हो रही है।

इनमें करीब 25 हजार करोड़ रुपए के रक्षा सौदों (Defense Deal) पर हस्ताक्षर होने की भी संभावना है। केन्द्रीय मंत्रिमंडल की रक्षा संबंधी समिति ने हाल ही में नौसेना के लिए 24 रोमियो मल्टीमिशन हेलीकॉप्टर, वायुसेना के लिए छह अपाचे युद्धक हेलीकॉप्टर और छह पी 8 आई समुद्री टोही विमान खरीदने के सौदों को मंजूरी दी है। इनकी आपूर्ति 2023-24 तक होने की संभावना है।

इसके अलावा ट्रंप मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत एफ-18, एफ-15 ईएक्स अथवा एफ-16 का उन्नत संस्करण एफ-21 संयुक्त रूप से बनाने का प्रस्ताव भी कर सकते हैं। दोनों देशों ने रक्षा प्रौद्योगिकी एवं व्यापार पहल (डीटीटीआई) के तहत सात परियोजनाओं को चिह्नित किया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी और एडवाइजर इवांका ट्रंप भी इस दौरे में शामिल हैं।

इवांका आज कई महिला उद्यमियों से मुलाकात करेंगी। भारत-अमेरिका के बीच होने वाली ट्रेड डील पर भी सबकी नजर है। हालांकि, बीते दिनों डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि इस दौरे पर डील साइन नहीं होगी, लेकिन इसपर चर्चाएं आगे बढ़ सकती हैं। भारत के विदेश मंत्रालय ने भी कहा था कि वह किसी डील की जल्दबाजी में नहीं हैं।

वेस्टिंगहाउस, एनपीसीआईएल आंध्र प्रदेश में 1100 MW के 6 रिएक्टर बनाने पर विचार कर रहे हैं। NPCIL ने इसके लिए बीते दिनों अमेरिका का दौरा किया था, जहां पर वेस्टिंगहाउस का दौरा किया गया था।

पढ़ें: Donald Trump India Visit Live Updtes: आ चुके हैं ट्रंप, मोदी से हो गई मुलाकात

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here