Delhi Violence: IB कर्मचारी अंकित के फरार हत्यारे ताहिर के खिलाफ लुकआउट नोटिस

दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) से जुड़े केस में फरार पार्षद ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी करने का निर्णय लिया गया है। पुलिस ने कहा कि विदेश भागने की आशंका के मद्देनजर लुकआउट नोटिस जारी करने की प्रक्रिया शुरू करते हुए सभी एयरपोर्ट को अलर्ट कर दिया गया है। उधर‚ आईबी कर्मी अंकित शर्मा के हत्यारे ताहिर हुसैन के खिलाफ दो और मुकदमे दर्ज किए गए हैं। इनमें एक हत्या की कोशिश तथा दूसरा दंगे व आगजनी से जुड़ा है। आम आदमी पार्टी से निष्कासित पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ अब तक तीन केस दर्ज किए जा चुके हैं।

Tahir Hussain

पुलिस सूत्रों ने बताया कि दंगे (Delhi Violence)  के दौरान गोली लगने से घायल अजय गोस्वामी के बयान पर एक प्राथमिकी दर्ज की गई है। उसने कहा है कि दंगे के दौरान ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) के मकान से ताबड़तोड़ चल गोलियां रही थीं और पत्थर व पेट्रोल बम फेंके जा रहे थे।

पढ़ें: दुनियाभर में कोरोना का कहर, भारत में तेजी से बढ़ रही है वायरस की घुसपैठ

अजय का कहना है कि वह 25 फरवरी को वह अपने चाचा राकेश शर्मा के घर आया था। दोपहर में करीब 3 बजकर 50 मिनट पर वह अपने घर खजूरी खास जा रहा था। वह जैसे ही गली के कोने पर पहुंचा तो मेन करावल नगर रोड पर भीड़ जमा थी। वहां मौजूद लोग पत्थरबाजी और गोलीबाजी कर रहे थे । वह उपद्रव देखकर वापस अपने चाचा के घर जाने लगा। इसी दौरान उसके दाहिने कूल्हे पर गोली लगी।

मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि गली नंबर 5 और 6 के बीच गुलफाम और तनवीर नामक दो युवक अंधाधुंध गोलियां चला रहे हैं। मौके पर मौजूद लोगों ने यह भी बताया कि ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) के मकान से काफी लोग गोलियां चला रहे हैं और उसे आशंका है कि ताहिर हुसैन के कहने पर उसे गोलियां मारी गई।

इसी प्रकार खजूरी खास थाने में ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उसमें शिकायतकर्ता सिपाही संग्राम सिंह ने बताया है कि 24 फरवरी को प्रदर्शन के दौरान उसकी ड़्यूटी हवलदार विक्रम के साथ चांद बाग पुलिया पर थी। उसने देखा कि शेरपुर चौक की तरफ जाने वाले रास्ते व आसपास की गलियों में भीड़ इकट्ठी हो गई है। उत्तेजित भीड़ आगजनी‚ पत्थरबाजी और तोड़फोड़ कर रही थी। कुछ लोग भीड़ को पथराव और आगजनी के लिए उकसा रहे थे।

उसने विक्रम के साथ मिलकर भीड़ को समझाया लेकिन उन लोगों पर भी हमला कर दिया गया। वे प्रदीप नामक शख्स की पार्किंग में जा घुसे। पीछे–पीछे उपद्रवी भी आ घुसे। प्रदीप की छत पर एक शादी के लिए खाना बन रहा था। आरोपियों ने उसे बर्बाद कर आगजनी की।

सिपाही संग्राम सिंह ने भी दंगा भड़काने के लिए ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) पर आरोप लगाते हुए कहा कि उसके मकान की छत पर बड़ी सख्या में उपद्रवी इकट्ठा थे और वहां से पत्थरबाजी कर रहे थे। पुलिस को जानकारी मिली है कि आरोपी दो मोबाइल नंबरों का इस्तेमाल करता था। उसने 24 तारीख को करीब 150 कॉल किया था। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here