दिल्ली पुलिस की सूझबूझ से एक बार फिर आतंकी साजिश नाकाम, गिरफ्त में आए 4 कश्मीरी आतंकी

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की सतर्कता से एक बार फिर दिल्ली को दहलाने की आतंकी साजिश को नाकाम कर दिया गया। फिलहाल दिल्ली पुलिस ये पता लगाने की कोशिश में है कि उन्होंने दिल्ली में कहां से हथियार खरीदे?

Delhi Police

4 Men From Kashmir Arrested by Delhi Police For Allegedly Planning Terror Attack in Delhi.

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने एक बार फिर राजधानी को दहलाने की साजिश को नाकाम कर दिया है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि लंबे अरसे से स्पेशल सेल कश्मीर में सक्रिय आतंकी संगठनों पर नजर रख रही थी और इसी सिलसिले में पुलिस को सूचना मिली की अल-कायदा के कश्मीरी संगठन अंसार गजवत–उल–हिंद के चार संदिग्ध आतंकवादी (Militants) दिल्ली में बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने आ रहे हैं और इस इनपुट के आधार पर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए चारों संदिग्ध आतंकवादियों को धर दबोचा।

गलवान में शहीद जवानों के सम्मान में भारतीय सेना ने लद्दाख में बनाया युद्ध-स्मारक

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के मुताबिक कि दबोचे गए आतंकी इशफाक मजीद कोका अंसार गजवत के पूर्व चीफ बुरहान कोका उर्फ छोटा बुरहान का बड़ा भाई है। छोटा बुरहान को 29 अप्रैल को सुरक्षाबलों ने शोपियां में उसके दो साथियों के साथ एनकाउंटर में मार गिराया था। दिल्ली पुलिस का दावा है कि भाई बुरहान के मरने के बाद इशफाक ने भी आतंक का रास्ता अपना लिया‚ जबकि उसके कहने पर ही बाकी तीनों युवक आतंकी घटना को अंजाम देने दिल्ली पहुंचे थे।

पुलिस (Delhi Police) जांच में पाया गया कि मौजूदा अंसार गजवत–उल–हिंद चीफ के कहने पर चारों आतंकवादी (Militants) दिल्ली आकर पहाड़गंज के एक होटल में रुके थे। दिल्ली में आतंकी कार्रवाई के लिए गजवत–अल–हिंद चीफ ने इनके खातों में पैसे भेजे‚ उससे इन लोगों ने दिल्ली में हथियार भी खरीदे।

आतंकी गतिविधियों पर है दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की नजर

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) उपायुक्त पीएस कुशवाहा के मुताबिक कि उनकी टीम लगातार आतंकी गतिविधियों पर नजर रखे हुये है। इस दौरान उनकी टीम को सूचना मिली कि कुछ कश्मीरी युवक दिल्ली में आतंकी हमले को अंजाम देने के इरादे से दाखिल हुए हैं। इन आतंकवादियों (Militants) के आईटीओ और दरियागंज इलाके में मूवमेंट को ट्रैस किया गया। जिसके बाद स्पेशल सेल की टीम ने आईटीओ के पास पिकेट लगाकर छानबीन शुरू कर दी। इस बीच रिंग रोड पर जम्मू–कश्मीर नंबर प्लेट की एक ग्रे बलेनो कार को रुकने का इशारा किया तो ड्राइवर ने कार को भगा लिया। जिसके बाद मौजूद पुलिस बल ने उस कार का पीछा किया गया। पुलिस को आता देख कार में सवार आतंकी घबरा गये और कुछ किलोमीटर दूर पर ही उनकी कार एक पेड़ से टकरा गई, जिसके बाद कार में सवार चारों आतंकवादियों को धर दबोचा गया।

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की सतर्कता से एक बार फिर दिल्ली को दहलाने की आतंकी साजिश को नाकाम कर दिया गया। फिलहाल दिल्ली पुलिस ये पता लगाने की कोशिश में है कि उन्होंने दिल्ली में कहां से हथियार खरीदे और इनको कौन स्थानीय इनपुट मुहैया करा रहा था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App