Delhi Election 2020: ‘टल सकती है दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीख, पर सीएम केजरीवाल ही होंगे’

Delhi Election 2020

Delhi Election 2020: दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सियासी हलकों में सरगर्मियां बढ़ गई हैं। हर पार्टी के अपने दावे हैं। ओपनियन पोल्स भी आने शुरू हो गए हैं। दावे और ओपिनयन पोल्स से इतर आखिरी नतीजे तो काउंटिंग के बाद ही आएंगे लेकिन इन सब कयासों और गणित का एक और पहलू भी है, ज्योतिष। पिछले कुछ सालों से हर चुनाव के वक्त ज्योतिष की भी चर्चा रहती है। ज्योतिषाचार्य अपनी गणनाओं के हिसाब से भविष्यवाणियां करते हैं। कई बार ऐसी भविष्यवाणियां सटीक भी साबित हुई हैं। ऐसे में, अब तमाम ज्योतिषाचार्य इस गणना में जुट गए हैं कि दिल्ली के नतीजे कैसे होंगे, कौन जीतेगा दिल्ली का दिल।

मशहूर ज्योतिषाचार्य आचार्य सलिल कुमार की मानें तो दिल्ली में फिर आम आदमी पार्टी की सरकार बनने जा रही है। इस भविष्यवाणी के पीछे को सियासी कयास नहीं बल्कि ज्योतिषीय गणना है। हरियाणा, महाराष्ट्र, झारखंड विधानसभा चुनाव के वक्त भी आचार्य सलिल ने सटीक भविष्यवाणी की थी। दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के पीछे की ज्योतिषीय गणना की बात करें, तो फिलहाल ट्रांजिटर बदल चुका है। जुपिटर धनु राषि में चले गए हैं, और चुनाव से पहले शनि मकर राशि में जा रहे हैं। ग्रहों की स्थिति में ये बदलाव कमोबेश सभी राजनीतिक दलों के लिए माकूल है। थोडा-थोड़ा फायदा सभी दलों को मिलेगा। ऐसे में देखना ये दिलचस्प है कि किस दल को ये सबसे ज्यादा फायदा पहुंचा रहा है।

तो बात सबसे पहले आम आदमी पार्टी की। आम आदमी पार्टी की कुंडली धनु लग्न की है और यहां पर जो गोचर है वो चुनाव में आम आदमी पार्टी को सपोर्ट कर रहा है। अब देखते हैं अरविंद केजरीवाल की कुंडली। केजरीवाल का जन्म 16 अगस्त, 1968 का जन्म को हुआ था। कुंडली उनकी सिंह लग्न की है। कुंडली के मुताबिक, गुरु की महादशा में चंद्र का अंतर और शनि का पित्यंतर चल रहा है। गुरु गोचर में धनु में हैं और शनि मकर में, जो इनको सपोर्ट कर रहा है। यहां गौर करने वाली बात ये है कि जब केजरीवाल 2015 में मुख्यमंत्री बने थे, तब वो अपनी पार्टी की कुंडली के चलते सफल हुए थे। पर आज की तारीख में अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी दोनों की ही कुंडलियां एक दूसरे को सपोर्ट कर रही हैं। यानी संकेत अच्छे हैं।

देखें पूरी भविष्यवाणी:

अब बात करते हैं आम आदमी पार्टी में नंबर टू की हैसियत रखने वाले दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की कुंडली की। इनकी कुंडली मीन लग्न की है। इनकी जन्मतिथि 5 जनवरी,1972 है। कुंडली के मुताबिक, राहु की महादशा में शनि का अंतर है। शनि यहां वक्रीय हैं, जो इनको सपोर्ट कर रहा है लेकिन इनका चुनाव बहुत नेक टू नेक होगा। आचार्य सलिल के मुताबिक, मनीष सिसोदिया की ही तरह अरविंद केजरीवाल को अपनी सीट पर जीत के लिए काफी संघर्ष करना पड़ेगा। कारण ये है कि केजरीवाल और सिसोदिया की कुंडली बेशक मजबूत है लेकिन ग्रहों की दशा के चलते बीजेपी और कांग्रेस की स्थिति में सुधार हुआ है। इसका साफ असर इन दोनों दलों के उम्मीदवारों के प्रदर्शन पर पड़ेगा।

पढ़ें: केजरीवाल के व्यक्तित्व में आए बदलाव पर सियासी नजरिया

अब बात कर लेते हैं, मैजिक फीगर की यानी किस दल को कितनी सीटें मिल सकती हैं, तो आचार्य सलिल के मुताबिक, आम आदमी पार्टी को 45-50 से के बीच सीटें मिल सकती हैं। साथ ही एक खास बात और है कि इस चुनाव में सत्तारुढ़ आम आदमी पार्टी के की मंत्रियों को हार का स्वाद भी चखना होगा। बात करें कांग्रेस की तो उसे 10 के आसपास सीटें मिल सकती हैं। वहीं, बीजेपी की झोली में भी 10 इर्द गिर्द सीटें आएंगी।

ये तो रही आंकड़ों की बात, आचार्य सलिल कुमार की ज्योतिषीय गणना एक और दिलचस्प पहलू की तरफ इशारा कर रही है। और वो ये कि 8 फरवरी को दिल्ली विधानसभा के लिए होने वाले चुनाव टल सकते हैं। जी हां, क्योंकि 8 फरवरी का गोचर ये बताता है कि ऐसे हालात बन सकते हैं कि चुनाव को आगे के लिए टालना पड़े। हालांकि, ज्योतिष गणना में ये आशंका सिर्फ एक प्रतिशत ही है लेकिन अगर चुनाव नहीं टलते हैं और 8 फरवरी को ही वोटिंग होती है, तो दिल्ली में फिर से आम आदमी पार्टी की सरकार बनने जा रही है।

पढ़ें: कांग्रेस के अस्तित्व पर उठ रहे सवाल पर सियासी नजरिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here