CRPF की एक नई पहल, देश विरोधी ताकतों की कमर तोड़ने की तैयारी

सीआरपीएफ (CRPF) देश की आंतरिक सुरक्षा और देश-विरोधी ताकतों से लड़ने के अलावा राज्य के पुलिस बलों को अवैध ड्रग्स के व्यापार जैसे अपराधों पर लगाम लगाने में भी मदद करती है।

CRPF

वेबिनार को संबोधित करते CRPF के महानिदेशक डॉ. एपी माहेश्वरी।

केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) हमारे राष्ट्र और समाज के बेहतरी और भलाई के लिए सभी एजेंसियों के साथ काम करने के लिए हर पल तैयार है। CRPF देश की आंतरिक सुरक्षा और देश-विरोधी ताकतों से लड़ने के अलावा राज्य के पुलिस बलों को अवैध ड्रग्स के व्यापार जैसे अपराधों पर लगाम लगाने में भी मदद करती है।

आज ‘International Day Against Drug Abuse and Illicit Trafficking’ है। इस मौके पर आयोजित एक वेबिनार में CRPF के महानिदेशक डॉ. एपी माहेश्वरी ने कहा कि नक्सल प्रभावित क्षेत्रों, जम्मू और कश्मीर और उत्तर-पूर्व में CRPF ने भारी मात्रा में अवैध दवाओं को जब्त किया है। उन्होंने आगे कहा कि अवैध दवाओं का व्यापार राष्ट्रविरोधी ताकतों के लिए धन जुटाने का बड़ा स्रोत है। इस अवैध व्यापार से मिले धन का इस्तेमाल ये ताकतें अपने नापाक मंसूबों को अंजाम देने के लिए करती हैं।

छत्तीसगढ़: राजनांदगांव में नक्सलियों ने 60 साल के वृद्ध की बेरहमी से हत्या की

इस दौरान डॉ. माहेश्वरी ने नशीली दवाओं के अवैध व्यापार पर लगाम लगाने के लिए सभी एंटी ड्रग इन्फोर्समेंट एजेसियों को साथ मिलकर और ठोस कदम उठाने का आह्वान किया। यह वेबिनार सीआरपीएफ (CRPF) के मणिपुर और नागालैंड सेक्टर द्वारा इंफाल में आयोजित किया गया था। इस अवसर पर मणिपुरी नृत्यांगना द्मश्री डॉ. ई. इंदिरा देवी सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

गौरतलब है कि पूर्वोत्तर सहित भारत के कई क्षेत्रों में देश विरोधी ताकतें युवाओं को बहकाकर उनसे नशीली दवाओं की तस्करी कराते हैं। साथ ही इससे युवाओं को नशे की लत लग जाती है, जो उन्हें अंधेरे में धकेल देती है। बता दें कि संयुक्त राष्ट्र की ओर से 26 जून को ‘International Day Against Drug Abuse and Illicit Trafficking’ घोषित किया गया है। साल 2020 के लिए इसका थीम “Better Knowledge for Better Care” रहा।

यह भी पढ़ें