दुनियाभर में पिछले 24 घंटे में 1 लाख से अधिक नये मामले, 50 लाख लोग जानलेवा वायरस से प्रभावित

डब्ल्यूएचओ (WHO) ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप मलेरिया के इलाज में काम आने वाली जो दवा कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए ले रहे है‚ उसके असर के बारे में कोई स्पष्ट वैज्ञानिक आधार नहीं मिला है।

WHO

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि दुनियाभर में पिछले 24 घंटे के दौरान रिकॉर्ड एक लाख 6 हजार (1,06,000) नए कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले दर्ज किए गए हैं। डब्ल्यूएचओ (WHO) के महानिदेशक तेद्रोस अधानोम गेब्रियेसस ने चेतावनी दी है कि कोरोना वायरस लंबे समय तक रहेगा। उन्होंने कम और मध्यम आय वाले देशों में इस संक्रमण के बढते मामलों पर चिंता भी व्यक्त की है।

दुनियाभर में अब तक करीब 50 लाख से लोग इस जानलेवा वायरस (Coronavirus) से प्रभावित हुए हैं‚ लेकिन इससे संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या इससे कहीं और अधिक है‚ क्योंकि बहुत सारी जांच की रिपोर्ट अभी आई नहीं है।

घाटी में तेजी से पांव पसार रहा है वायरस, दिल्ली से इलाज करा के लौटे दंपत्ति के 4 महीने की बच्ची को हुआ कोरोना

डब्ल्यूएचओ (WHO) ने कहा है कि वैश्विक महामारी कोविड 19 (Coronavirus) का खतरा बरकरार है। इसका दूसरा दौर भी शुरू होने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता। रूस में डब्ल्यूएचओ (WHO) की प्रवक्ता मेलिता वुज्नोविक ने रोशिया 24 ब्रॉडकास्टर से यह बात कही। प्रवक्ता ने कहा‚ लोगों को यह समझना आवश्यक है कि महामारी का खतरा टला नहीं है। पहले दौर के बाद दूसरा दौर भी शुरू हो सकता है।

डब्ल्यूएचओ (WHO) ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप मलेरिया के इलाज में काम आने वाली जो दवा कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए ले रहे है‚ उसके असर के बारे में कोई स्पष्ट वैज्ञानिक आधार नहीं मिला है। ट्रंप ने सोमवार को कहा था कि वह हाइड्रॉक्सिक्लोरोक्वीन ले रहे हैं। डब्ल्यूएचओ (WHO) में आपातकालीन सेवा के प्रमुख डॉ. माइकल रेयान ने कहा कि जिन संभावित उपचारों का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर परीक्षण हो रहा है‚ यह उनमें से एक है।

यह भी पढ़ें